साहित्यकार समागम

मित्रों।
दिनांक 4 फरवरी, 2018 (रविवार) को खटीमा में मेरे निवास पर साहित्यकार समागम का आयोजन किया जा रहा है।

जिसमें हिन्दी साहित्य और ब्लॉग से जुड़े सभी महानुभावों का स्वागत है।

कार्यक्रम विवरण निम्नवत् है-
दिनांक 4 फरवरी, 2018 (रविवार)
प्रातः 8 से 9 बजे तक यज्ञ
प्रातः 9 से 9-30 बजे तक जलपान (अल्पाहार)
प्रातः 10 से अपराह्न 1 बजे तक - पुस्तक विमोचन, स्वागत-सम्मान, परिचर्चा (विषय-हिन्दी भाषा के उन्नयन में
ब्लॉग और मुखपोथी (फेसबुक) का योगदान।
अपराह्न 1 बजे से 2 बजे तक भोजन।
अपराह्न 2 बजे से 4 बजे तक कविगोष्ठी
अपराह्न 5 बजे चाय के साथ सूक्ष्म अल्पाहार तत्पश्चात कार्यक्रम का समापन।
(
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री का निवास, टनकपुर-रोड, खटीमा, जिला-ऊधमसिंहनगर (उत्तराखण्ड)
अपने आने की स्वीकृति अवश्य दें।
सम्पर्क-9368499921, 7906360576

roopchandrashastri@gmail.com

Followers

Thursday, April 02, 2015

सोचिए ............ { चर्चा - 1936 }

आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है 
मूर्ख दिवस बिना मूर्ख बने निकल गया या कहें कि किसी ने मूर्ख बनाया ही नहीं । शायद कारण यह भी हो सकता है कि सभी दोस्तों ने सोचा हो कि मूर्ख को क्या मूर्ख बनाना । मेरी ही तरह जिन्हें मूर्ख नहीं बनाया गया उन्हें भी इस नजरिये से सोचना चाहिए कि आखिर कोई आपको मूर्ख क्यों नहीं बना रहा, वो भी उस दिन जिस दिन इसकी खुली छूट रहती है । सोचिए, सोचिए.........
चलते हैं चर्चा की ओर 
स‌ाहित्यकार कैलाश वाजपेयी का निधन | Kailash Vajpayee Passed Away
My Photo
My Photo
My Photo
My Photo
My Photo
My Photo
My Photo
मेरा फोटो
भदेस...देहाती
Presentation1  HARIT HU MAI
धन्यवाद 

11 comments:

  1. आपका आभार आदरणीय दिलबाग विर्क जी।
    आपके निष्ठा और श्रम को प्रणाम करता करता हूँ।
    चर्चा मंच के संक्रमण काल में भी आपने कन्धा से कन्धा मिलाकर मेरा साथ दिया।
    आदरणीय अनुषा जैन जी के आगमन से चर्चा मंच को फिर से बल मिल गया है।
    --
    कुछ दिनों बाद आदरणीय रविकर जी और आदरणीय राजेन्द्र कुमार भी अपनी छुट्टी से वापिस आ जायेंगे तो मुझे भी कुछ राहत मिल जायेगी।

    ReplyDelete
  2. सुप्रभात
    उम्दा लिंकस
    मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद |

    ReplyDelete
  3. कैलाश बाजपेयी जी को विनम्र श्रद्धांजलि । सुंदर सूत्र संयोजन । सुंदर चर्चा ।

    ReplyDelete
  4. कैलाश बाजपेयी जी को विनम्र श्रद्धांजलि ।

    ReplyDelete
  5. बहुत बढ़िया चर्चा प्रस्तुति ..आभार

    ReplyDelete
  6. विनम्र श्रद्धांजलि कैलाश बाजपेयी जी को,बढ़िया चर्चा,मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद

    ReplyDelete
  7. कैलाश बाजपेयी जी को विनम्र श्रद्धांजलि।
    सुंदर चर्चा, सारे लिंक्स एक से बढ़कर एक खूबसूरत।
    मेरी रचना को स्थान देने के लिए धन्यवाद।

    ReplyDelete
  8. सुंदर चर्चा, कैलाश वाजपेयी जी को विनम्र श्रद्धांजलि ! बहुत बहुत आभार !

    ReplyDelete
  9. आदरणीय दिलबाग जी रचना को मंच में स्थान देने के लिए आपका बहुत- बहुत आभार

    ReplyDelete
  10. कैलाश बाजपेयी जी को विनम्र श्रद्धांजलि । सुंदर सूत्र संयोजन । सुंदर चर्चा ।
    मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद |

    ReplyDelete
  11. रचना शामिल करने के लिए दिल से धन्यवाद.....सारे लिंक्स बहुत अच्छे लगें

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

"सारे भोंपू बेंच दे, यदि यह हिंदुस्तान" (चर्चामंच 2850)

बालकविता   "मुझे मिली है सुन्दर काया"   (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')   उच्चारण     अलाव ...