साहित्यकार समागम

मित्रों।
दिनांक 4 फरवरी, 2018 (रविवार) को खटीमा में मेरे निवास पर साहित्यकार समागम का आयोजन किया जा रहा है।

जिसमें हिन्दी साहित्य और ब्लॉग से जुड़े सभी महानुभावों का स्वागत है।

कार्यक्रम विवरण निम्नवत् है-
दिनांक 4 फरवरी, 2018 (रविवार)
प्रातः 8 से 9 बजे तक यज्ञ
प्रातः 9 से 9-30 बजे तक जलपान (अल्पाहार)
प्रातः 10 से अपराह्न 1 बजे तक - पुस्तक विमोचन, स्वागत-सम्मान, परिचर्चा (विषय-हिन्दी भाषा के उन्नयन में
ब्लॉग और मुखपोथी (फेसबुक) का योगदान।
अपराह्न 1 बजे से 2 बजे तक भोजन।
अपराह्न 2 बजे से 4 बजे तक कविगोष्ठी
अपराह्न 5 बजे चाय के साथ सूक्ष्म अल्पाहार तत्पश्चात कार्यक्रम का समापन।
(
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री का निवास, टनकपुर-रोड, खटीमा, जिला-ऊधमसिंहनगर (उत्तराखण्ड)
अपने आने की स्वीकृति अवश्य दें।
सम्पर्क-9368499921, 7906360576

roopchandrashastri@gmail.com

Followers

Wednesday, December 24, 2014

किसी गरीब की किस्मत से निवालों जैसे ...; चर्चा मंच 1837



SANDEEP PANWAR 


GYanesh Kumar 


राजीव कुमार झा 

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक 

बैठ मजे से मेरी छत पर,
दाना-दुनका खाती हो!

उछल-कूद करती रहती हो,
सबके मन को भाती हो!!


ममता त्रिपाठी 

सुशील कुमार जोशी 
अल्पना वर्मा
udaya veer singh 
Kajal Kumar 

8 comments:

  1. सुप्रभात
    उम्दा लिंक्स|
    कार्टून मजेदार |

    ReplyDelete
  2. सुन्दर चर्चा रविकर जी।
    --
    हृदय से आभार आपका।

    ReplyDelete
  3. खूबसूरत चर्चा । आभार 'उलूक' का सूत्र 'चाय की तलब और गलत समय का गलत खयाल' को जगह देने के लिये रविकर जी ।

    ReplyDelete
  4. बहुत बढ़िया लिंक्स-सह-चर्चा प्रस्तुति हेतु आभार!

    ReplyDelete
  5. बढ़िया चर्चा

    ReplyDelete
  6. लगभग सभी लिंक्स देखली . रचनाएँ अच्छी हैं . मेरी कहानी को शामिल करने के लिए धन्यवाद .

    ReplyDelete
  7. सुन्दर सूत्र ..
    आभार मेरी ग़ज़ल को जगह देने का ...

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

(चर्चा अंक-2853)

मित्रों! मेरा स्वास्थ्य आजकल खराब है इसलिए अपनी सुविधानुसार ही  यदा कदा लिंक लगाऊँगा। शुक्रवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  ...