Followers

Thursday, May 02, 2013

चर्चा - 1232

आज की चर्चा में आप सबका हार्दिक स्वागत है 
एक मई यानी मजदूर दिवस , हरियाणा में इस दिवस की छुट्टी नहीं होती, लेकिन पड़ोसी राज्य पंजाब में होती है और इसकी जानकारी भी आज ही हुई । दरअसल बादल गाँव  ( मुख्यमंत्री जी का गाँव ) के सरकारीअस्पताल में जाना था , डॉ. से मिले बिना वापिस आना पड़ा । वापिस लौटते समय मजदूरों को तेज धूप में काम करते देखा । छुट्टी और इस दिन के औचित्य पर प्रश्न उठे ? दरअसल हमारे देश में कलेंडर को भिन्न भिन्न दिवसों में बांटने का अच्छा रिवाज है, भले ही इन पर सार्थक विचार हो न हो । 
अब चलते हैं चर्चा की ओर
 
My Photo
मेरा फोटो
 
आज की चर्चा में बस इतना ही 
धन्यवाद 
दिलबाग 
आगे देखिए..."मयंक का कोना"
(1)
नेता जो ढूँढन मै चली ............

आजकल कोई भी समाचारपत्र पढ़ने का प्रयास करें अथवा किसी खबरी चैनल देखें ,हर जगह सम्भावित चुनाव और उसके सम्भावित प्रत्याशियों पर ही अटकलें लगाईं जा रही हैं । अब इस चुनावी मौसम की बहती गंगा में अपना भी दायित्वबोध जाग्रत हो गया ,क्या करें मजबूरी जो थी कितना सोया जाए....
(2)
जूठन
My Photo
Ocean of Bliss पर Rekha Joshi 
(3)
आपकी समस्‍या, हमारा समाधान

MY BIG GUIDE  पर  Abhimanyu Bhardwaj 
(4)
मजदूर महिलाएँ मूल्यहीन श्रम

जब से होश सँभाला तब से फैज़ की यह नज़्म सुनती और गुनगुनाती रही हूँ... ''हम मेहनतकश जगवालों से जब अपना हिस्सा माँगेंगे इक खेत नहीं इक देश नहीं हम सारी दुनिया माँगेंगे...'' उन दिनों सोचती थी कि आखिर मेहनत तो सभी करते हैं, फिर कौन किससे हिस्सा माँग रहा....
साझा-संसार पर डॉ. जेन्नी शबनम 
(5)
computer चालू होने पर अपना मेसेज या नाम दिखाए
My Photo
हितेश राठी

23 comments:

  1. श्रमिक दिवस की शुभ कामनाएं !

    ReplyDelete
  2. भाई दिलबाग विर्क जी!
    आपने(02-05-2013) चर्चा - 1232 में बहुत बढ़िया लिंकों का समावेश किया है!
    आभार के साथ मजदूर दिवस की भी बधाई स्वीकार करें!
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  3. शुभकामनाएँ
    अच्छे लिंक्स दिये आपने
    आभार

    ReplyDelete
  4. बहुत सुन्दर लिंक्स सजाए आपने! मजदूर दिवस के उपलक्ष्य में मजदूरों के श्रम को इससे अच्छा नमन नहीं हो सकता।
    इस अंक में मुझे स्थान देने के लिए आपका आभार!

    ReplyDelete
  5. बहुत सुन्दर सार्थक सामयिक चर्चा हेतु बधाई मेरी रचना को शामिल करने के लिए आभार दिलबाग जी|

    ReplyDelete
  6. सुन्दर और सार्थक चर्चा !!

    ReplyDelete
  7. इस चर्चा मंच में मुझे जगह देने के लिए धनयवाद ! में कोसिस करूँगा की ऐसी ही पोस्ट लिखता रहू ताकि मेरी भी चर्चा इस चर्चा मंच पर हो सके !

    ReplyDelete
  8. मजदुर दिवस पर बहुत ही सुन्दर और सार्थक लिंकों की प्रस्तुति,पर एक दिन मजदुर दिवस मना लेने से मजदूरों का भला नही होने वाला.

    ReplyDelete
  9. शीर्षक से ही सारी रचनाएँ प्रभावित कर रही हैं ,कोशिश करती हूँ अधिक से अधिक पढ़ने की .......आभार आपका !

    ReplyDelete
  10. shukriya dilbaag ji , meri kavita ko shaamil karne ke liye ...
    shukriya
    vijay

    ReplyDelete
  11. बहुत सुन्दर चर्चा में मेरी ब्लॉग पोस्ट फोटो सहित प्रस्तुत करने हेतु आभार ...

    ReplyDelete
  12. सुन्दर चर्चा ,सार्थक लिंकों की प्रस्तुति,,,,

    RECENT POST: मधुशाला,

    ReplyDelete
  13. बहुत सुन्दर लिंक.....धन्यवाद...

    ReplyDelete
  14. Especially Thanks to Mr. Dilbag.

    ReplyDelete
  15. दिलबाग विर्क जी,बहुत सुन्दर लिंक,मुझे स्थान देने के लिए आपका आभार,धन्यवाद

    ReplyDelete
  16. bahut sundar links , abhaar hamen bhi shamil kane ke liye dilbag ji

    ReplyDelete
  17. bahut sundar prastuti dhanyavad nd aabhar...

    ReplyDelete
  18. umda prastuti ... majduro ko dasha ko bayan karti or sarkar dwara unke uddhar ke liye ghoshit yojnao ki pol kholti rachnaye ... sadar naman

    ReplyDelete
  19. शानदार चर्चा मंच सजाया है आपने...मेरी रचना शामि‍ल करने के लि‍ए आपका आभार..

    ReplyDelete
  20. सार्थक पोस्ट्स का समर्थ संग्रह।
    पसंद आया।
    आपका आभार !

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

"राम तुम बन जाओगे" (चर्चा अंक-2821)

मित्रों! सोमवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')   -- ...