Followers


Search This Blog

Thursday, October 31, 2019

चर्चा - 3505

8 comments:



  1. आज देश की एकता के सूत्रधार रहे देश के प्रथम उप प्रधानमंत्री वल्लभभाई पटेल की जयंती है।आपकों लौह पुरुष और सरदार भी कहा जाता है। गृहमंत्री बनने के बाद आपने छह सौ छोटी-बड़ी  रियासतों का भारत में विलय  कराया। आज कृतज्ञ राष्ट्र उन्हें नमन कर रहा है।परंतु , यहाँ उत्तर प्रदेश और अपने जनपद मीरजापुर में एक जातीय विशेष के लोग उनके नाम पर जिसतरह की राजनीति कर रहे हैं, यह कितना उचित है ? ये अपने राजनैतिक लाभ के लिये जातीय बंधन में सरदार पटेल साहब को बाँध उनका दायरा संकुचित कर रहे हैं।
    आज के दिन ही जब पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या हुई थी,तो मैंने देखा वाराणसी में सिक्ख समुदाय के लोगों के प्रतिष्ठानों को किस तरह से लूटा गया, आगजनी की गयी, भय से वे अपने केश बनवा रहे थे और नाई ने भी मौका का लाभ उठा ,वह वर्ष 1984 में केश बनाने का 50 रुपये तक ले रहा था।
    चर्चा मंच के प्रस्तुतिकर्ता एवं सभी रचनाकारों प्रणाम।


    ReplyDelete
  2. बह8ुत सुन्दर चित्रमयी चर्चा।
    आपका आभार आदरणीय दिलबाग विर्क जी।

    ReplyDelete
    Replies
    1. सुंदर रचनाओं का संकलन।

      Delete
  3. आभार दिलबाग जी। बहुत सुन्दर अंक।

    ReplyDelete
  4. सुन्दर रचनाओं का संग्रहणीय प्रस्तुतीकरण, बधाई

    ReplyDelete
  5. समकालीन सरोकार की चर्चा लेकर आया आज का अंक। बधाई दिलबाग जी।
    सभी चयनित रचनाकारों को बधाई एवं शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  6. दिलबाग जी बहुत बहुत शुक्रिया ' अलेक्सा आ गई ' शामिल करने के लिए.

    ReplyDelete
  7. रचना साझा करने के लिए धन्यवाद 🙏

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।