समर्थक

Thursday, May 19, 2011

संक्षिप्त चर्चा ( चर्चा मंच -518 )

 सबसे पहले तो चर्चा मंच के पाठकों को सादर प्रणाम 
 मैं आज की चर्चा प्रस्तुत कर रहा हूँ यह मेरा सौभाग्य है और इसके लिए मैं तहे-दिल से आभारी हूँ डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री " मयंक " जी का , जिन्होंने मुझे इस योग्य समझा .
       क्योंकि यह मेरी पहली चर्चा है इसलिए गलती होने पर क्षमा की अपेक्षा रखता हूँ         
                  तो चलिए चर्चा की ओर 
सबसे पहले बात करेंगे हरियाणा के सुप्रसिद्ध साहित्यकार डॉ. श्याम सखा "श्याम" जी की, जो घाटे की बात कर रहे हैं फ़ऊलुन।फ़ऊलुन।फ़ऊलुन।फ़ऊलुन की सुंदर बहर के साथ ,मज़ा लिज़िएगा इसका 
                       ग़ज़ल में ही आगे बढ़ें तो ग़ज़लगंगा ब्लॉग को कैसे भूला जा सकता है यहाँ दिशाएं देवेंदर गौतम से दूर होकर बैठी है 
                        अब मिलते हैं ग़ज़ल के एक और महारथी से . जी हाँ यह शख्स हैं कुंवर कुसुमेश जी , ये गवाही के लिए चाँद-तारों को तैयार कर रहे हैं इनकी ग़ज़ल की रवानगी देखिएगा  
                       ग़ज़ल की चर्चा हो और " आज की ग़ज़ल " ब्लॉग की चर्चा न हो ये हो ही नहीं सकता .इस समय यह शोभायमान है पुरुषोतम अब्बी " आजर " की बहरे-मजारे की मुजाहिफ शक्ल की ग़ज़ल 
ग़ज़ल ही नही सभी विधाओं में सिद्धहस्त "मयंक" जी का तो कहना ही क्या ,चर्चा मंच में ग़ज़ल का राग छिड़ा हो तो उच्चारण ब्लॉग उपेक्षित कैसे रह सकता है ,तो लीजिए मयंक जी की ग़ज़ल 
 चलो अब दूसरी तरफ रुख करते हैं सबसे पहले मैं ज़िक्र करूंगा उडन तश्तरी जी का वे किसी भीषण कांड की बात कर रहे हैं ,सब कुछ मैं थोड़े बताऊंगा आप ही देखिए
            सीखो कुछ तो इस भीषण काण्ड से 
        इन दिनों महंगाई चरम पर है ,पट्रोल, डीजल के भाव रोज़ बढ़ रहे हैं इसे कार्टून में उतार रहे हैं 
                          मस्तान सिंह   
बात व्यंग्य की हो रही है ,इसमें हाथ दिखा रहें डॉ जोगासिंह 
देखिए इनका घर 
            कविता ब्लोगरों का प्रिय विषय है और नारियां इसमें अपने कोमल मन के कारण महारत रखती हैं 
          महिला ब्लोगरों में सबसे पहले बात करते हैं डॉ.हरदीप संधू की जिन्होंने १७ मई को अपने ब्लॉग का स्थापना दिवस और अपना जन्म दिवस एक साथ मनाया है इस विशेष दिवस पर लाडो बिटिया को समर्पित विशेष रचना
              आगे चलते हैं ब्लॉग विचार प्रवाह की तरफ यहाँ प्रियंका राठौर अनजाने रिश्ते की बात कर रही हैं  
                 ब्लॉग जगत की प्रमुख हस्ती आदरणीय रश्मि प्रभा पाठकों को बता रही हैं " पैसा बहुत बड़ी चीज़ है "
                    मैं एक अध्यापक हूँ ब्लॉग जगत पर भी अध्यापकों को तलाश ही लिया आपसे मिला रहा हूँ दो अध्यापक ब्लोगरों को 
             १. जसवंत घारू
             २. कृष्ण कायत 
अंत में एक ऐसे ब्लॉग की बात करेंगे जो तस्वीरें पेश करके रचनाएं आमंत्रित करता है , जी हाँ मैं बात कर रहा हूँ ब्लॉग मुखरित तस्वीरें की 
       संभव है आपको यह चर्चा बहुत संक्षिप्त लगी हो ,लेकिन यह मेरा पहला प्रयास है ,आगे से लिंक की संख्या बढाने का प्रयास करूंगा , इन्ही शब्दों के साथ इजाजत चाहूँगा  
                                      दिलबाग विर्क   
                     http://sahityasurbhi.blogspot.com/                               

28 comments:

  1. चर्चा मंच पर पहली चर्चा के लिए हार्दिक बधाई |अच्छी चर्चा |
    आशा

    ReplyDelete
  2. दिलबाग जी की प्रस्तुति देख कर दिल बाग बाग हो गया. क्या बात है दिलबाग जी आपकी.मुझे स्थान देने के लिए कृतज्ञ हूँ.You have provided good links in a different and amazing style.

    ReplyDelete
  3. बहुत बढ़िया चर्चा...

    ReplyDelete
  4. अच्छी चर्चा ,बधाई !

    ग्राम चौपाल में " बिना एंपायर का मैच और डबल सेंचुरी "http://www.ashokbajaj.com/2011/05/blog-post_18.html

    ReplyDelete
  5. शुरुआत बहुत अच्छी है ..... स्वागत और शुभकामनायें

    ReplyDelete
  6. सरस और सार्थक वार्ता..धन्यवाद!
    -----देवेंद्र गौतम

    ReplyDelete
  7. पहली चर्चा ही बढिया है दिलबाग जी ...बधाई !

    ReplyDelete
  8. Dilbaag ji charcha me kuch behtreen ghazlon ka link dene ke liye shukriya.

    ReplyDelete
  9. bahut badiya charcha...is charcha mei meri rachna ko shamil karne ke liye bahut bahut dhaybad...

    ReplyDelete
  10. दिलबाग जी
    पहली चर्चा मे आपका स्वागत है…………बहुत सुन्दर लिंक्स से सजी सारगर्भित चर्चा के लिये हार्दिक बधाई।

    ReplyDelete
  11. अच्छी शुरुआत.छोटी पर अच्छी चर्चा.

    ReplyDelete
  12. चर्चामंच में स्वागत, अच्छी चर्चा के लिए बधाई और आगे के लिए शुभकामनाएँ ।
    कृपया मेरी भी कविता पढ़ें और अपनी राय दें ।
    www.pradip13m.blogspot.com

    ReplyDelete
  13. उम्दा लिंक्स संजोये अच्छी चर्चा ...

    ReplyDelete
  14. बहुत सुन्दर चर्चा..अच्छे लिंक्स

    ReplyDelete
  15. चर्चामंच के लिए दिलबाग़ जी की सलाहियतें बेशक नफ़ाबख़्श रहेंगी ।
    मुबारकबाद !
    आभार !!

    ReplyDelete
  16. सबसे पहले तो आपको इस नए कार्ज के लिए बधाई !
    अच्छी चर्चा है ..आपका बहुत बहुत धन्यावद ...मेरी कविता 'लाडो-बिटिया ' को चर्चा मंच में शामिल करने के लिए !
    हरदीप

    ReplyDelete
  17. सबसे पहले तो आपको इस नए कार्ज के लिए बधाई !
    अच्छी चर्चा है ..आपका बहुत बहुत धन्यावद ...मेरी कविता 'लाडो-बिटिया ' को चर्चा मंच में शामिल करने के लिए !
    हरदीप

    ReplyDelete
  18. बहुत बढ़िया चर्चा के लिये हार्दिक शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  19. सर्वप्रथम चर्चा मंच में आपका बहुत बहुत स्वागत है दिलबाग जी...आपने बहुत ही सुंदर लिंक्सों का चयन किया है.....शुभारम्भ अच्छा रहा।

    ReplyDelete
  20. pahli bari me hi bahut achchhi charcha prastut ki hai .badhai .

    ReplyDelete
  21. अच्छी चर्चा है आपका बहुत बहुत धन्यावद

    ReplyDelete
  22. Sundar links or kamyaab shuruatee charcha ke liye bahut badhaiyan Dilbagh ji !

    ise hee is manch ko sajayen rakhen !

    Sadhuvaad !

    ReplyDelete
  23. नमस्कार
    डरते डरते चर्चा की थी , गाँव में बिजली संकट बहुत ज्यादा है , इसीलिए मंगलवार को चर्चा पूरी कर ली थी ,
    आप सब को चर्चा पसंद आई ,इसके लिए भगवान का शुक्रिया अदा करता हूँ , इस दिशा में और सुधार कर सकूं ऐसी कोशिश रहेगी
    आभार

    ReplyDelete
  24. चर्चा मंच पर पहली चर्चा के लिए हार्दिक बधाई |अच्छी चर्चा |दिलबाग जी आपकी.मुझे स्थान देने के लिए कृतज्ञ हूँ.अच्छी चर्चा है आपका बहुत बहुत धन्यावद

    ReplyDelete
  25. अच्छी प्रस्तुति , अच्छे लिंक्स बधाई

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin