चर्चा मंच पर सप्ताह में तीन दिन (रविवार,मंगलवार और बृहस्पतिवार)

को ही चर्चा होगी।

रविवार के चर्चाकार डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक,

मंगलवार के चर्चाकार

श्री दिनेश चन्द्र गुप्ता रविकर

और बृहस्पतिवार के चर्चाकार श्री दिलबाग विर्क होंगे।

समर्थक

Tuesday, April 17, 2012

हम आसमां टटोलते हैं.... चर्चामंच-852

नमस्‍कार। 
समय कितनी जल्‍दी बीतता है, पता ही नहीं चलता। मौसम भी रूख बदलता रहता है। सच ही कहा है किसी ने पागल होने का कोई सही मौसम नहीं होता 
ये भी क्‍या खूब कही गई है, 
मेरी राहों का तम हरता है ... !!! 
कौन है ये   अजनबी सा
कहां खो जाती है    काव्‍य धारा 
 गजब है जवां यादें 
एक मस्‍ताना निकला है कहते  
कीजिए सैर स्‍काटलैंड की
ये तरीका भी क्‍या खूब है, 
उम्‍मीदों की उडान देखिए .... हम आसमां टटोलते हैं..
क्‍या कहता है कवि

सच है गांधी के अनुयायियों ने 

"खादी का अपमान किया है"

आखिर में चलते चलते यारो सब दुआ कीजिए

अब दीजिए अतुल श्रीवास्‍तव   को इजाजत। 
फिर मुलाकात होगी..... 

27 comments:

  1. मेरी पोस्ट को अपनी चर्चा मे स्थान देने के लिए आपका बहुत बहुत आभार अतुल जी !

    ReplyDelete
  2. बढ़िया लिनक्स लिए चर्चा ......

    ReplyDelete
  3. अच्छे लिंकों के साथ बढ़िया चर्चा की है आपने!
    आभार!

    ReplyDelete
  4. चर्चा मंच की सुन्दर चर्चा ,सुन्दर रचनाओं के साथ ..बधाईयाँ जी /

    ReplyDelete
  5. बढ़िया चर्चा

    ReplyDelete
  6. आभार अतुल जी .....बहुत बढ़िया लिंक्स चयन ....उत्कृष्ट चर्चा .....
    प्रण ज़रूर लें इस वर्ष ...वर्षा के समय कुछ वृक्षारोपण ज़रूर करें ....!!

    ReplyDelete
  7. सुन्दर संयोजन..
    .आज आपने अखबार के बारे में नहीं बताया ..
    कलमदान को स्थान देने के लिए धन्यवाद..

    ReplyDelete
  8. वाह !!
    पागल बनाने के लिये भी
    बादल और बरसात कहाँ चाहिये
    पागल होने वाला और पागल
    बनाने वाला बस एक साथ चाहिये
    चर्चामंच बहुत सुंदर बनाया गया है
    यहाँ कहाँ किसी को भी
    अतुल ने पागल बनाया है।

    ReplyDelete
  9. और हाँ ! मेरी कविता की पंक्ति को चर्चा मंच का शीर्षक बनाने के लिए धन्यवाद..!!
    :)

    ReplyDelete
  10. बहुत बढ़िया अतुल जी............

    शानदार चर्चा....

    शुक्रिया.
    अनु

    ReplyDelete
  11. मेरी रचना को चर्चा मंच मे स्थान देने के लिए आपका बहुत बहुत आभार अतुल जी !

    ReplyDelete
  12. सभी लिंक्स बहुत ही बढ़िया है!....धन्यवाद!

    ReplyDelete
  13. बहुत ही सुन्दर, शालीन और सन्तुलित चर्चा... बधाई

    ReplyDelete
  14. बहुत बढ़िया लिंक्स.... अतुल जी

    ReplyDelete
  15. सुन्दर चर्चा बहुत बढ़िया लिंक्स..

    ReplyDelete
  16. बहुत सुन्दर लिंक संयोजन सुन्दर चर्चा

    ReplyDelete
  17. बहुत ही अच्छी चर्चा।

    ReplyDelete
  18. .बहुत बढ़िया चर्चा भाईसाहब .

    ReplyDelete
  19. .बहुत बढ़िया चर्चा भाईसाहब .

    ReplyDelete
  20. .बहुत बढ़िया चर्चा भाईसाहब .

    ReplyDelete
  21. बहुत ही अच्‍छे लिंक्‍स का चयन जिनके साथ मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार ।

    ReplyDelete
  22. आज कल बहुत कार्यव्यवस्ता की वजह से नेट पर नहीं आ पा रही हूँ ... कुछ देर के लिए बस... पर यहाँ पर आ कर काफी अच्छे लिंक मिल जाते हैं...समय की बचत भी हो जाती है... मेरी पोस्ट को जगह मिली ..आपका आभार ..

    ReplyDelete
  23. बहुत प्यारे लिंक दिए अतुल भाई ....
    आभार आपका !

    ReplyDelete
  24. sundar links hai atul ji aaj sare padhene wali hu

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin