Followers

Search This Blog

Thursday, April 19, 2012

गंगा मैली हो गई.......( चर्चा - 854)

आज की चर्चा में आप सबका हार्दिक स्वागत है
चलते हैं चर्चा की ओर
गंगा के दूषित होने पर चिंतित है डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री जी और पूछ रहे है ---
My Photo
My Photo
My Photo
♣'वटवृक्ष' पत्रिका मे प्रकाशित रचना ♣
My Photo
आज के लिए बस इतना ही 
धन्यवाद
दिलबाग विर्क
*****************

24 comments:

  1. बढ़िया चर्चा..... मेरी पोस्ट शामिल की , आभार

    ReplyDelete
  2. badhia linka chayan ....
    bahut achchhi charcha ....badhaii .

    ReplyDelete
  3. बढ़िया चर्चा||
    आभार ||

    ReplyDelete
  4. ़़़़़़़़
    दुनिया मतलब की हो गयी
    गंगा की धार कहां खो गयी
    उल्लू की चांदी फिर हो गयी
    गांधी की नीलामी कर गयी
    वास्तु शास्त्र पर नजर गयी
    दिलबाग के मंच सजाने से
    क्यारी ब्लागों की निखर गयी

    धन्यवाद दिलबाग जी
    दिल बाग बाग करने के लिये।

    ReplyDelete
  5. अच्छी चर्चा................
    ज़्यादातर लिंक्स देख लिए...
    बहुत सुंदर..
    शुक्रिया.

    अनु

    ReplyDelete
  6. समसामयिक विषयों से लेकर कोमल साहित्यिक छुवन का अहसास कर्ता हुआ आपका ये संकलन बहुत अच्छा लगा. धन्यवाद.

    ReplyDelete
  7. बड़े प्यारे सृजन, गहन व रोचक पुट लिए सार्थक,सफल संकलन के लिए आपका शुक्रिया विर्क साहब ....

    ReplyDelete
  8. आ.सुशील कुमार जोशी के सुर में सुर मिलाता हूँ जी!
    धन्यवाद दिलबाग जी!
    दिल बाग-बाग करने के लिये।
    सुन्दर-सन्तुलित चर्चा!

    ReplyDelete
  9. बड़े ही रोचक सूत्र प्रस्तुत किये हैं..

    ReplyDelete
  10. बहुत सुन्दर लिंक संयोजन्।

    ReplyDelete
  11. बेहतरीन लिंक्‍स का संयोजन किया है आपने ...आभार ।

    ReplyDelete
  12. सुंदर संतुलित लिंक्स सयोजन के लिए आभार,...
    दिलबाग जी,...
    बहुत बढ़िया प्रस्तुति,सुंदर अभिव्यक्ति,बेहतरीन रचना,...

    MY RECENT POST काव्यान्जलि ...: कवि,...

    ReplyDelete
  13. अच्छे लिंक्स के साथ शानदार चर्चा...आभार!

    ReplyDelete
  14. शुक्रिया चर्चा मंच का ,और सभी साथियों का आभार ,की आपने मोहब्बत नामा को भी अपनी चर्चा में शामिल किया.

    ReplyDelete
  15. सुंदर लिंक्स से सजी बेहतरीन चर्चा।

    ReplyDelete
  16. बहुत बढ़िया लिंक्स संयोजन के साथ सार्थक चर्चा प्रस्तुति के लिए आभार

    ReplyDelete
  17. ये संकलन बहुत अच्छा लगा

    ReplyDelete
  18. बढ़िया लिंक्स संयोजन

    ReplyDelete
  19. bahut achchhe links se saji charcha prastut karne hetu aabhar .mission london ko yahan sthan dene hetu aabhar

    like this page and wish indian hockey team for london olympic

    ReplyDelete
  20. झाँकी चर्चा -मंच की , यूँ कर रही कमाल
    पहुँचा ज्योँ व्याकुल हृदय, शिमला नैनीताल
    शिमला नैनीताल, मिली तन मन को राहत
    मिले शबनमी लिंक,यही थी दिल की चाहत
    जय,जय,जय दिलबाग,छबी दिखलाई बाँकी
    यूँ कर रही कमाल ,चर्चा - मंच की झाँकी.

    ReplyDelete
  21. abhaar Enak ko sthan dene ke liye charchamanch par

    naaz

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।