समर्थक

Saturday, August 11, 2012

छोटो सो प्यारो सो म्हारो मदन-गोपाल (चर्चा मंच-968)

मित्रों!
सर्वप्रथम आप सबको
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की शुभकामनाएँ!
विंडो लाइवराइटर से पोस्ट लगाए हुए
बहुत समय हो गया था!
इसलिए आज उसी से पोस्ट लगा रहा हूँ!
"दोहे-कर्म बनाता भाग्य को"

निहित ज्ञान का पुंज है, गीता में श्रीमान।

पढ़ना इसको ध्यान से, इसमें है विज्ञान।

आज के लिए इतना ही!
कल फिर मिलूँगा!

43 comments:

  1. बहुरंगी चर्चा आज की ,रंग लाई महनत आपकी |
    मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार |
    आशा

    ReplyDelete
  2. जी हाँ असम की और २००८ में यू पी ए २ की सरकारें अवैध ही कही जायेंगी .असम के एक मुख्य मंत्री तो लालू की तरह (बड़)बोले थे ,मुझे कोई नहीं हटा सकता मेरे साथ बिहारी मजदूर है बांग्ला देशी हैं जितने मर्जी बुला लूं .क्या हिंदी सीखने के बाद आदमी गुर्राने लगता है .जब से पीज़ा पास्ता हुए मूल आहार ,इटली से चलने लगा सारा कारोबार .बढ़िया पोस्ट रविकर जी की विविधा समेटे जन्म अष्टमी के मौके पर जब कि सारा चर्चा मंच कृष्ण मय हो चुका है ,क्या अजब इत्तेफाक "कृष्ण बाल "अभी भी सरकारी जेल में हैं .अपराध देश सेवा ...कृपया यहाँ भी पधारें -
    शनिवार, 11 अगस्त 2012
    Shoulder ,Arm Hand Problems -The Chiropractic Approach
    http://veerubhai1947.blogspot.com/

    ReplyDelete
  3. aap ki prastutio ko padh/dekh dil khush ho gya

    ReplyDelete
  4. प्रकृति नटी का मानवीकरण अच्छी रचना ... ...कृपया यहाँ भी पधारें -
    शनिवार, 11 अगस्त 2012
    Shoulder ,Arm Hand Problems -The Chiropractic Approach
    http://veerubhai1947.blogspot.com/

    ReplyDelete
  5. जब से पीजा पास्ता हुए मूल आहार ,
    इटली से चलने लगा सारा कारोबार . जया सोनिया शक्ल, कांपते सिन्धी-शिंदे......क्या गलत कहा आडवाणी ने असम और यू पी ए २ की सरकार (२००८ ) की अवैध ही कही जायेगी सांसद खरीद फरोख्त का नतीजा थी और असम के एक मुख्य मंत्री तो बडबोले पन में लालू के भी बाप थे कहते थे मुझे कोई नहीं हटा सकता जब तक बिहारी मजदूर और बांग्ला देशी मेरे साथ हैं जितने जब चाहूँ घुसा लूं असम में .

    ReplyDelete
  6. मनोरम भाव चित्र संजोया है रचना में HINDIKAVITAYEN ,AAPKE VICHAAR .कृपया यहाँ भी पधारें -
    शनिवार, 11 अगस्त 2012
    Shoulder ,Arm Hand Problems -The Chiropractic Approachhttp://veerubhai1947.blogspot.com/

    ReplyDelete
  7. मायानगरी में कबीर/व्यंजना और भाव उत्कृष्ट लिए रही रचना रूपक का भी आखिर तक निर्वाह -तुन तुना तुन .कृपया यहाँ भी पधारें -
    शनिवार, 11 अगस्त 2012
    Shoulder ,Arm Hand Problems -The Chiropractic Approachhttp://veerubhai1947.blogspot.com/

    ReplyDelete
  8. तिस पर तुर्रा यह खरपतवार सा पढ़ (पढ़ा लिखा )अपढ़, दुर्मुख दिग्विजय हो जाता हैसमझे अपने को सब विद्याओं का चाचा ,राम देव का ताऊ .,कृष्ण - बाल का फूफा "स्पोक्समैन"
    "उल्लूक टाईम्स " .कृपया यहाँ भी पधारें -
    शनिवार, 11 अगस्त 2012
    Shoulder ,Arm Hand Problems -The Chiropractic Approachhttp://veerubhai1947.blogspot.com/

    ReplyDelete
  9. विंडो लाइवराइटर से
    पोस्ट लगाई है
    देखिये वीरू भाई को
    कितनी पसंद आई है
    अब वो टिपिया रहे हैं
    जा जा कर एक एक
    ब्लाग पर धीरे धीरे
    फिर ना कहना टिप्पणियों
    की बरसात आई है
    मयंक जी ने आज
    वाकई बहुत सुंदर
    चर्चा यहा पर लगाई है !!

    ReplyDelete
    Replies
    1. धूम मच गई आज तो, महारथी सब आय |
      तरकश खाली कर रहे, तीखे तीर चलाय |
      तीखे तीर चलाय, आज कृष्णा के चर्चे |
      राजनीति पर व्यंग, प्यार पर मरे अगरचे |
      रविकर का न दोष, बड़ा मौसम बेढंगा |
      मुंह देखे का प्यार, वासनामय अधनंगा ||

      Delete
  10. "दोहे-कर्म बनाता भाग्य को"

    निहित ज्ञान का पुंज है, गीता में श्रीमान।
    पढ़ना इसको ध्यान से, इसमें है विज्ञान।१।

    बहुत सुंदर दोहे बना बना कर लाये हैं
    इसे ही तो कहा जाता रहा है हमेशा
    गागर में लाकर सागर एक समाये हैं !!

    ReplyDelete
  11. कार्टून :- जन्‍माष्‍टमी का कार्टून
    अब कन्हैया का कोई क्या कर लेगा ?

    ReplyDelete
  12. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  13. मायानगरी में कबीर

    जबरदस्त है!!
    पर दाल में छौंक देखिये :


    कबीर कहाँ गुस्सा दिखाता था
    वो जो लिख जाता था
    पढ़ने वाले को उसपर
    गुस्सा आता था
    पढ़ता था जब जब कबीर को
    मन में ही गलियाता था !

    ReplyDelete
  14. वन देवी
    बहुत उत्तम प्रस्तुति!

    ReplyDelete
  15. लव मैरिज या अरेंज मैरिज

    अब शादी तो शादी है
    ऎसे करो चाहे वैसे करो
    बढ़नी तो आबादी है
    लव करो या अरेंज करो
    पर शादी जरूर करो
    शादी कर लो उसके बाद
    करना है जो वो करो
    बस अक्ल को अपनी
    कभी भी बंद ना करो !

    ReplyDelete
  16. कृष्ण भौतिक एवम आध्यात्मिक मूल्यांकन

    वाकई गजब का है कृष्ण
    क्या ऎसा बचा है देखिये
    जिसे कह लें हम कभी
    ये तो नहीं है कृष्ण !!

    ReplyDelete
  17. मेरे पापा की २१ वीं पुण्यतिथि ! मेरा सरोकार

    पापा लोग कभी मरते नहीं
    जिंदा रहते हैं अपने उसूलों
    के साथ बच्चों के मानस
    पटल पर टिमटिमाते हैं !

    ReplyDelete
  18. बदलो अपना छब – ढब
    बहुत खूब!!

    बदल लेंगे अपने अपने छब और टब
    बाहर भी निकलेंगे पर पता नहीं कब ?

    ReplyDelete
  19. जया सोनिया शक्ल, कांपते सिन्धी-शिंदे

    समझी झट इस बार, तभी तो फट गुस्साई-
    रविकर को ये बात बहुत जल्दी समझ में आई
    समझ में जैसे आई लाकर पोस्ट एक चिपकाई
    समय देख कर देखिये बदल रही है माई !!

    ReplyDelete
  20. "स्पोक्समैन"
    "उल्लूक टाईम्स "

    आज साइकिल की कई, टूट गईं इ'स्पोक्स |
    थोड़ी चोरी कीजिये, नहीं निकालूं नुक्श |
    नहीं निकालूं नुक्श, सफाई भी थी गड़बड़ |
    मियां राम गोपाल, पाल लेता इक बड़ बड़ |
    ऐसे बड़ बड़ लोग, संभाले बातें कातिल की |
    यही मैन इ'स्पोक्स, जरुरत है सैकिल की ||

    ReplyDelete
  21. हम तो कहते रहेंगे
    अगर कहने पर
    आ ही गये
    कुछ कुछ
    आप भी सुना देते
    तो कितना अच्छा होता !

    बाकी बिजली के लौट के आने पर शाम की सभा मैं
    तब तक राम राम !

    ReplyDelete
  22. "दोहे-कर्म बनाता भाग्य को"

    उच्चारण

    दोहे गीता ज्ञान के, बढ़ी पोस्ट की शान |
    व्यवहारे जो मान के, प्रगति करे इंसान ||

    ReplyDelete
  23. wow! bahut accha laga!.........charchamanch sachmuch kabile- tareef hai!

    ReplyDelete
  24. अतिसुन्दर आज के चर्चामंच की छटा ही निराली है पूरा भक्तिमय कृष्णमय हो गया है मेरे ब्लॉग को शामिल करने के लिए कोटिश आभार

    ReplyDelete
  25. anshu ji ka love or arange marrige aur kajalkumar ji ka kartoon bahut pasand aaya........sath hi janmashtmi ki saari prastutiya bahut acchi hai!

    ReplyDelete
  26. Bahut sundar, Manmohak, Dil ko Chhoo lene wali Prastuti...

    ReplyDelete
  27. aasha ji ka vandevi dil ko choone wali pravishti hai!.....ataynt sundar!!!!!!!!!!!!!

    ReplyDelete
  28. लगता है की डॉ.मयंक ने चर्चा को सजाने की पहले से ही तय्यारी कर ली थी.शायद आपकी मेहनत रंग लाएगी.




    मोहब्बत नामा
    मास्टर्स टेक टिप्स

    ReplyDelete
  29. बहुत ही सुन्दर लिंक्स सजाये हैं।

    ReplyDelete
  30. एक से बढ़कर एक सुन्दर लिंक्स से सजा कान्हा का दरबार बहुत अच्छा लगा आपका इस लिंक संग्रह के लिए बहुत बहुत आभार

    ReplyDelete
  31. कृष्ण मय चर्चा मंच ने वाकई जन्माष्टमी को अच्छे से मनाया और हम सबको उनके विविध स्वरूपों पर किये गए सृजन से रूबरू भी कराया.
    मेरी पोस्टों को शामिल करने के लिए धन्यवाद !

    ReplyDelete
  32. बहुत सुन्दर कृष्णमय चर्चा....सुन्दर लिंक संयोजन के लिये आभार...

    ReplyDelete
  33. बहुत अच्छा संकलन शास्त्री जी ,रंग बिरंगी छटाओ से भरा हुआ और कृष्ण भक्ति से सरोबार

    ReplyDelete
  34. कृष्ण रंग में रंगी मनोहारी चर्चा प्रस्तुति के लिए आभार

    ReplyDelete
  35. कृष्णमयी भक्तिमयी सुन्दर चर्चा,,,

    ReplyDelete
  36. कृष्ण के रंग में रंगा मनोहरी चर्चा मंच /एक से बढ़कर एक रचना आपने प्रस्तुत की / बहुत बधाई आपको /आपका बहुत बहुत आभार /


    मेरे ब्लॉग में आपका स्वागत है /चार महीने बाद फिर में आप सबके साथ हूँ /जरुर पधारिये /

    ReplyDelete
  37. वाह !!!!!!!!!!!!! आज का चर्चामंच कृष्णमय हो गया है. अति सुंदर......

    ReplyDelete
  38. जन्माष्टमी का आता है,साल में त्यौहार
    भक्तिमय ये मंच हुआ,लिंकों की भरमार,,,,,

    अच्छी प्रस्तुति ,,,,

    ReplyDelete
  39. जन्माष्टमी के मौके पर सबको शुभकामनाएं.

    आपका हार्दिक स्वागत है.

    ReplyDelete
  40. तकनीकी रूप से बेहतरीन प्रस्तुतीकरण..

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin