समर्थक

Thursday, February 07, 2013

पुस्तक मेले में ब्लॉग लेखक ( चर्चा - 1148 )

आज की चर्चा में आप सबका हार्दिक स्वागत है 
प्रगति मैदान में पुस्तक मेला लगा हुआ है , ज्यादातर ब्लॉग लेखक अब आपको यहाँ मिल सकते हैं क्योंकि काफी की पुस्तकें इसमें शामिल हैं , प्रिंट मीडिया इंटरनेट के आने से कमजोर नहीं मजबूत हुआ है शायद यही संदेश देता है यह ?
चलते हैं चर्चा की और 
sdgger
MAA-BETI
डा. रूपचंद शास्त्री 'मयंक' जी
निरामिष
 
जाले
My Photo
मेरा फोटो
अनामांकित
मेरा फोटो
बुरा उनके लिए चाहा न जाए
My Image
दर्द के खामोश समन्दर 
"कुछ कहना है"
रहा देखता राह, किन्तु चुप्पी थी बढ़िया 
आज की चर्चा में बस इतना ही 
धन्यवाद 
दिलबाग विर्क 


17 comments:

  1. लिंकों के साथ बहुत सुन्दर चित्रमयी चर्चा!
    आभार भाई दिलबाग विर्क जी!

    ReplyDelete
  2. विविध लिंक्स लिए चर्चा |
    आशा

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर सूत्र..आभार..

    ReplyDelete
  4. दिलचस्प सूत्र संयोजन दिलबाग विर्क जी!

    ReplyDelete
  5. आदरणीय दिलबाग सर बहुत ही सुन्दर एवं पठनीय सूत्र दिए हैं आज की चर्चा में, हार्दिक बधाई

    ReplyDelete
  6. सुन्दर चर्चा -
    आभार आदरणीय दिलबाग जी-

    ReplyDelete
  7. बहुत ही अच्‍छे लिंक्‍स संयोजित किये हैं आपने ... आभार

    ReplyDelete
  8. बहुत ही सार्थक लिंक्स संयोजन,आभार आपका।

    ReplyDelete
  9. वि‍र्क जी धन्‍यवाद सुंदर लिंक देने के लि‍ए

    ReplyDelete
  10. ...बहुत सुन्दर लिंक्स,धन्यवाद!

    ReplyDelete
  11. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  12. सुन्दर सूत्रों में पिरोइ माला के लिए आभार दिलबाग जी
    गुज़ारिश : ''......यह तो मौसम का जादू है मितवा......''

    ReplyDelete
  13. बढ़िया चर्चा लगाई है दिल्बाग जी बधाई

    ReplyDelete
  14. वाह क्या चर्चा के लिँक लगाइ मैँ तो सारे शिशर्क को ही पढता रह गया
    ऐसे लिँक के साथ चर्चामय संवाद कमाल का हैँ यू ही जारी रखकर ,, इसके रोँमाच कायम रखे धन्यवाद

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin