Followers

Saturday, March 30, 2019

"दिल तो है मतवाला गिरगिट" (चर्चा अंक-3290)

सभी ब्लॉगर मित्रों को मेरा अभिवादन।

चर्चा मंच पर आज मेरी पहली चर्चा है।
मेरा प्रयास रहेगा कि रविवार और सोमवार को
हिन्दी के ब्लॉगों की अद्यतन पोस्टों के 
लिंकों की चर्चा करूँ।
आशा है कि आप सबका शुभाशीष मुझे मिलता रहेगा।

--

--

निराशा 

Profile photo

Priti Surana  at 
--

आँसू 

Screenshot_20190328-085035_Chrome
 लुढ़का   नयनों    से  यौवन 
बन   मधुवन    की   लाली 
मदिर   प्रेम   में   डूबा  मन 
नयन  बने  शरबत की प्याली 

मानस   हृदय   की  वेदी  पर 
विराजित   करुण   स्वभाव 
दु:ख  सुख  की सीमा बन  बैठे 
खोले  मन  के  कोमल  भाव ... 
Anita saini 
--
--
--

नियति का कटाक्ष 

व्याकुल पथिक at व्याकुल पथिक  
--

नयनों की सुनामी 


Asha Saxena at  
--

आएँगे, उजले दिन ज़रूर आएँगे -  

वीरेन डंगवाल

रवीन्द्र भारद्वाज at काव्य-धरा  
--

धुँध की चादर जो आँख़ों में पड़ी... 

श्वेता सिन्हा 


yashoda Agrawal  at  
--

देसी चश्मे से लंदन डायरी....  

शिखा वार्ष्णेय 

वाणी गीत  at  ज्ञानवाणी  
--

चॉकलेट का पेड़ और उर्मि 

Pratibha Katiyar at  
--

611.  

जीवन मेरा (चोका) 

डॉ. जेन्नी शबनम  at  
--

जो पगला नहीं पा रहे हैं  

उनकी जिन्दगी  

सच में हराम हो गयी है 

सुशील कुमार जोशी at  
--

फकत् आंसू नहीं हूं मैं!! 

किसी की याद हूं मैं, 
तड़प हूं मैं किसी की। 
किसी की फरियाद हूं मैं, 
चमकूं बन आंखों का मोती, 
हृदय की पीड़ा मुझमें सोती... 
Abhilasha  at  
--

ओस की बूँदें 

Anita  at  

15 comments:

  1. बहुत सारी शुभकामनाएँ अनिता जी। आपको इस नयी भूमिका में पाकर बहुत खुशी हुई है। आपने अपने परिश्रम से ब्लॉक जगत में अति शीघ्र अपना विशिष्ट स्थान बना लिया है और शास्त्री सर ने आपको यह महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी है। आप निरंतर प्रगति के मार्ग पर बढ़ती रहें। इन्हीं शब्दों के साथ हृदय से आभार आपने मेरी रचना को प्रमुखता से स्थान जो दिया है।
    प्रणाम।

    ReplyDelete
  2. शुभ प्रभात..
    आभार..
    शुभकामनाएँ..
    सादर...

    ReplyDelete
  3. वाहह्हह बहुत सुंदर।
    प्रिय अनिता चर्चा मंच के द्वारा आपकी सुंदर प्रस्तुति और सुघड़ संयोजन सराहनीय है। एक कवियित्री की तरह चर्चा कार के रुप में भी आप सफल हो निरंतर आगे बढ़ती रहें यही कामना है।
    मेरी अशेष शुभकामनाएँ स्वीकार करें।सस्नेह।

    ReplyDelete
  4. बहुत बहुत शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  5. आपका स्वागत और अभिनन्दन है अनीता सैनी जी।

    ReplyDelete
  6. सुप्रभात ! सुंदर लिंक्स की खबर देता चर्चा मंच, आभार !

    ReplyDelete
  7. चर्चाकार के रूप में नये दायित्व को निभाने के लिये बधाई और शुभकामनाएं अनीता जी के लिये। आभार 'उलूक' का साथ में उसकी बकबक का एक पन्ना यहाँ ला कर दिखाने के लिये।

    ReplyDelete
  8. वाह ! बहुत खूबसूरत लिंक्स से सुसज्जित आज का चर्चामंच ! अनीता जी का श्रम दिखाई दे रहा है ! मेरी रचना को स्थान देने के लिए आपका हृदय से बहुत बहुत धन्यवाद एवं आभार अनीता जी ! हार्दिक शुभकामनाएं !

    ReplyDelete
  9. बहुत बहुत बधाई अनिता जी बहुत ही विशिष्ट कार्य संभालने की इस जिम्मेदारी को आप बखूबी निभायेंगी ऐसा मूझे पुरा विश्वास है।
    इस महत्वपूर्ण कार्य के लिए तहे दिल से मंगलकामना।
    सदा कामयाबी आपके कदम चुमे।
    एक बेहतरीन चर्चा कार बन ब्लॉग जगत पर छा जाएं।

    ReplyDelete
  10. सुन्दर चर्चा

    ReplyDelete
  11. प्रियअनिता -- आपको इस नई भूमिका में देखकर मन को अपार हर्ष है | एक सुदक्ष सदस्य के रूप में आप अनंत कीर्ति और यश पायें मेरी यही कामना रहेंगी जिसके लिए मेरी शुभकामनायें आपके लिए | सुंदर लिंक संयोजन के लिए बधाई | आपका साहित्य के प्रति लगाव और समर्पण बहुत ही वन्दनीय है | आदरणीय मयंक सर की पारखी दृष्टि ने आपको इस योग्य पाया यही आपकी क़ाबलियत का सबूत है | एक बार फिर बधाई और मेरा प्यार |

    ReplyDelete
  12. अनन्त शुभकामनाएं आदरणीया आपको
    सादर

    बहुत सुंदर अंक
    बेहतरीन रचनाएं

    चर्चाकार के रूप में आपको देखकर अत्यंत हर्ष का अनुभूति हो रहा हैं।


    ReplyDelete
  13. बहुत बहुत बधाई अनीता जी चर्चा मंच की चर्चाकार के रूप में प्राप्त नयी भूमिका के लिए....।
    आपकी पहली चर्चा बहुत ही सुघड़ एवं सराहनीय है सभी लिंक बेहद उम्दा हैं आप इसी तरह हमेशा तरक्की के सौपान चढ़ती रहें इसी मंगलकामना के साथ अनन्त शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  14. बेहतरीन रचना संकलन एवं प्रस्तुति, सभी रचनाएं उत्तम ,रचनाकारों को हार्दिक बधाई, मेरी रचना को स्थान देने के लिए सहृदय आभार🙏🙏

    ReplyDelete
  15. आप सभी का तहे दिल से आभार उत्साहवर्धन हेतु
    सादर

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।