Followers

Thursday, February 18, 2021

चर्चा - 3981

 आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है

एक समय था, जब कभी किसी चीज के भाव बढ़ते थे, तो विपक्ष खूब हो-हल्ला करता था, मीडिया भी उनको बढ़-चढ़कर दिखाता था, लेकिन इन दिनों पैट्रोल, डीजल, गैस आदि के भाव जिस गति से बढ़ रहे हैं, वैसी गति से कभी नहीं बढे, लेकिन इतनी चुप्पी भी कभी नहीं रही| मीडिया की समझ आती है, लेकिन विपक्षी पार्टियों को क्या हुआ है? क्या उन्हें छाती पीटनी, धरने देना भी नहीं आता ? गरीबों को लुभाने के लिए सरकार विभिन्न प्रकार के प्रलोभन दे रही है| अमीर एक हाथ से दे रहे हैं, तो दूसरी तरफ़ सरकार ही उनकी कमाई के रास्ते तैयार कर रही है| पिसते मध्यमवर्ग की सुनने वाला कौन है? महँगाई रोज बढ़ रही है और कर्मचरियों के महँगाई भत्ते पर रोक है| 

चलते हैं चर्चा की ओर  

दिलबागसिंह विर्क 

7 comments:

  1. बढ़िया संयोजन
    बढ़िया चर्चा

    साधुवाद.🙏

    ReplyDelete
  2. श्रमसाध्य कार्य हेतु साधुवाद
    असीम शुभकामनाओं के संग हार्दिक आभार आपका

    ReplyDelete
  3. हार्दिक आभार आपका |बहुत अच्छे लिंक्स

    ReplyDelete
  4. कर्तव्यबोध कराती सार्थक चर्चा।
    --
    आपका आभार आदरणीय दिलबाग सिंह विर्क जी।

    ReplyDelete
  5. अति सुन्दर संकलन के लिए हार्दिक बधाई ।

    ReplyDelete
  6. सुंदर रचना संकलन

    ReplyDelete
  7. बढ़िया संयोजन
    असीम शुभकामनाओं संग हार्दिक आभार आपका

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।