चर्चा मंच पर सप्ताह में तीन दिन (रविवार,मंगलवार और बृहस्पतिवार)

को ही चर्चा होगी।

रविवार के चर्चाकार डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक,

मंगलवार के चर्चाकार

श्री दिनेश चन्द्र गुप्ता रविकर

और बृहस्पतिवार के चर्चाकार श्री दिलबाग विर्क होंगे।

समर्थक

Thursday, July 31, 2014

ओ काले मेघा { चर्चा - 1691 }

आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है 
चर्चा लगाते समय पता चला कि चर्चा मंच के व्यवस्थापक आदरणीय रूप चन्द्र शास्त्री जी के पूज्य पिता जी सांसारिक यात्रा पूर्ण कर परलोक सिधार गए हैं | चर्चा मंच परिवार उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित करता है |
आज हरियाली तीज है लेकिन बिना बारिश के यह अर्थहीन लगी | कुछ दिन पहले हल्की बूँदा - बाँदी हुई तो आस बंधी कि अब तो बारिश शरू हो जाएगी लेकिन काले बादल उमड़ते तो हैं लेकिन बरसते नही, जन-जन बारिश को तरस रहा है और पुकार रहा है ओ काले मेघा बरसो छमाछम |लेकिन मेघा तो ठहरे मर्जी के मालिक |
चलते हैं चर्चा की ओर 
My Photo
My Photo
My Photo
My Photo
My Photo
phone
way to rangat , rangat photos , andaman
आभार 

10 comments:

  1. सुप्रभात
    मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार |
    सुन्दर सूत्र संयोजन |मुंशी प्रेम चाँद जी के जन्म दिन पर उंहें नमन

    ReplyDelete
  2. बढ़िया चर्चा-
    आभार भाई जी-

    ReplyDelete
  3. बहुत बढ़िया चर्चा प्रस्तुति में मेरी ब्लॉग पोस्ट शामिल करने हेतु आभार!

    ReplyDelete
  4. sundar links badhiya charcha....meri blog post ko bhi shamil kiya abhar

    ReplyDelete
  5. नमस्कार, मेरी रचना शामिल करने हेतु आभार।
    बढ़िया चर्चा ।

    ReplyDelete
  6. बढ़िया चर्चा
    मेरी रचना को चर्चा मंच में शामिल करने के लिए शुक्रिया

    ReplyDelete
  7. सुन्दर चर्चा ... नये लेखको को पढ़ा नए नजरिये से रूबरू हुयी ..इनके मध्य मेरी रचना को स्थान देने के लिए तहेदिल से आभार

    ReplyDelete
  8. व्यवस्थित चर्चा...सुन्दर सूत्र...मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार !!

    ReplyDelete
  9. आभार.
    सुंदर प्रस्तुतियों को शामिल करने के लिये.

    ReplyDelete
  10. सुन्दर चर्चा

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin