Followers

Wednesday, July 16, 2014

रविकर करें बवाल, आज कर बैठा वैदिक ; चर्चा मंच 1676

दिक करते हैं दोस्त अब, छोड़ा सोच-विचार । 
रब ही अब रक्षा करे, कर दे बेड़ा पार । 

कर दे बेड़ा पार, नहीं मझधार डुबाये । 

मानसून की मार, दुष्ट मँहगाई खाए । 

हाफिज गुरु घंटाल, शंकराचार्या आदिक । 

रविकर करें बवाल, आज कर बैठा वैदिक ॥ 
shyam Gupta 

देवेन्द्र पाण्डेय 
रूपचन्द्र शास्त्री मयंक 
 चित्र में....-मैं स्वयं, बाबा नागार्जुन, मेरी माता जी, मेरी श्रीमती जी और मेरा छोटा पुत्र विनीत। स्कूटर तैयार है घुमक्कड़ प्रकृति के बाबा नागार्जुन को घुमाने के लिए)*
RITU 


 
Shalini Kaushik
रश्मि शर्मा 


vijay kumar sappatti
 
pramod joshi


 
Virendra Kumar Sharma 


 

एक तो कांग्रेसी और ऊपर से ....

,"तोषा और पोषा" 
(यानी तोषण और पोषण करने वाला ),
एक ही व्यक्ति ...
Virendra Kumar Sharma
--

'पत्नी' और 'माँ' एक ही सिक्के के दो पहलू 

शब्द-शिखर पर Akanksha Yadav 
--

जब उधार देने में रोया करते 

जब उधार देने में रोया करते हो तो 

किसलिये मित्र बनाया करते हो 

उलूक टाइम्स पर सुशील कुमार जोशी
--

"स्वाभिमानी बाबा नागार्जुन" 

 हम लोगों ने भी सोचा कि बाबा के सम्मान में 
एक कवि-गोष्ठी ही कर ली जाये।
इस अवसर पर साहित्य शारदा मंचखटीमा का 
अध्यक्ष होने के नाते मैंने बाबा को शॉल ओढ़ा कर 
साहित्य-स्नेही की मानद उपाधि से अलंकृत भी किया था।

(डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') 


14 comments:

  1. शुभ प्रआत रविकर भाई
    अच्छी रचनाएँ
    विविधता लिये

    सादर

    ReplyDelete
  2. सुन्दर चर्चा आदरणीय रविकर जी।
    2-3 लिंक और जोड़े थे चर्चा में।
    कृपया सूचना दे दें।
    --
    आभार।

    ReplyDelete
  3. मनोहारी चर्चा रविकर जी । सुंदर सूत्रों के साथ 'उलूक' के सूत्र 'जब उधार देने में रोया करते हो तो
    किसलिये मित्र बनाया करते हो ' को स्थान देने के लिये आभार ।

    ReplyDelete
  4. सुंदर चर्चा ! आ. रविकर जी.

    ReplyDelete
  5. विविधरंगी सूत्रों का चयन..आभार !

    ReplyDelete
  6. बहुत बढ़िया चर्चा प्रस्तुति ..आभार!

    ReplyDelete
  7. bahut manbhavan links se sanjoya hai aapne charchamanch .meri post ko sthan dene ke liye hardik dhanyawad .

    ReplyDelete
  8. बढ़िया प्रस्तुति व लिंक्स , आ. रविकर सर , शास्त्री जी व मंच को धन्यवाद !
    Information and solutions in Hindi ( हिंदी में समस्त प्रकार की जानकारियाँ )

    ReplyDelete
  9. आज के चर्चा मँच पर हास्य मिश्रित गंभीर रस रोचक है ! मेरी रचना को इस में शामिल करने हेतु धन्यवाद !

    ReplyDelete
  10. शानदार चर्चा

    ReplyDelete
  11. बढ़ि‍या चर्चा.;मेरी रचना शामि‍ल करने के लि‍ए आपका आभार

    ReplyDelete
  12. सभी एक से बढ़कर एक ...!
    मेरे ब्लॉग कलमदान को चर्चा मंच पर स्थान देने के लिए बहुत धन्यवाद रविकर जी ..
    ऋतू बंसल
    कलमदान

    ReplyDelete
  13. विविधरंगी सूत्रों हेतु धन्यवाद .....

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

"सब कुछ अभी ही लिख देगा क्या" (चर्चा अंक-2819)

मित्रों! शनिवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')   -- ...