Followers


Search This Blog

Thursday, October 29, 2020

चर्चा - 3869

 आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है 

धन्यवाद 

दिलबागसिंह विर्क 

9 comments:

  1. उम्दा संकलन आज का |मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार सहित धन्यवाद सर |

    ReplyDelete
  2. सुन्दर, संयत और सार्थक चर्चा प्रस्तुति।
    आपका आभार आदरणीय दिलबाग सिंह विर्क जी।

    ReplyDelete
  3. उत्कृष्ट सूत्रों का संकलन हेतु हार्दिक आभार ।

    ReplyDelete
  4. चर्चा मंच का एक और सुंदर अंक, सभी रचनाकारों को बधाई, आभार !

    ReplyDelete
  5. चर्चा के अत्यंत सुन्दर संयोजन हेतु संयोजकगण एवं मंच की व्यवस्था से जुड़े सभी सद्स्यों को हार्दिक बधाई... तथा हार्दिक शुभकामना कि यह प्रतिष्ठित मंच ऐसे ही दिन प्रति दिन सफल साहित्यिक आयोजन करता रहे... ऐसे ही हिन्दी साहित्य की निर्बाध - सराहनीय सेवा करता रहे... माँ सरस्वती की असीम कृपा से यह देश ही नहीं बल्कि विश्वव्यापी ख्याति अर्जित करता रहे... इन्हीं शुभकामनाओं के साथ मयंक सर को प्रणाम करता हूँ की जिन्होंने कई वर्ष पहली इस पवित्र अभियान की आधारशिला रखी है और आज भी एक प्रमुख स्तंभ की तरह यथावत कुशल मार्गदर्शन कर रहे हैं... जो कि हम सब के लिये एक विशेष प्रेरणास्रोत की तरह है...!!!

    ReplyDelete
  6. बहुत सुंदर और सार्थक चर्चा अंक , शानदार लिंक सभी रचनाकारों को बधाई। सभी रचनाएं बेमिसाल।
    मेरी रचना को शामिल करने के लिए हृदय तल से आभार।

    ReplyDelete
  7. 'लॉकर में बंद' शामिल करने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।