Followers

Friday, February 12, 2010

“भोले बाबा के नाम” (चर्चा मंच)

"चर्चा मंच" अंक-62
चर्चाकारः डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"


आइए आज का "चर्चा “मंच" को सजाते हैं।


सबसे पहले शिव-शंकर से सम्बन्धित पोस्टों की चर्चा करता हूँ-

महर्षि दयानंद सरस्वती की याद में

  • स्वामी दयानन्द का जन्म ऐसे समय हुवा जब भारतवर्ष गुलाम था.भारतमाता ने समय समय पर ऐसे महापुरुषों को जन्म दिया जिन्होंने सनातन वैदिक हिंदू धर्म का संबर्धन किया । चाणक्य व आदि शंकराचार्य जिन्होंने भारतीय संस्कृति को राजनातिक स्वरूप दिया

  • और दुनिया को मानवता का आदर्श साशन प्रदान किया । शंकर के पश्चात् स्वामी जी ही ऐसे संत थे की आर्यसमाज की स्थापना करके केवल वैदिक धर्म का प्रचार ही नही किया बल्कि समाज में ब्याप्त बुराईयों को समाप्त करने तथा अपने बिछुड़े बंधुवो को पुनह स्वधर्म में laney का आन्दोलन खड़ा किया । आर्यसमाज के मध्यम से देश को संगठित ही नही तो देश आज़ादी हेतु समग्र भारत में क्रांतिकारियों का गुरुकुल खड़ा कर दिया आज उन्ही की देन है की हम खुली हवा में स्वास ले रहे है ऐसे महापुरुष का जीवन हम भारतीयों के लिए प्रेरणास्पद है । जिससे भारत माता के सपूतो की श्रृखला बनी रहे ।

बम बम लहरी बम भोलेनाथ

डम डम डम डम डमरू बाजे
नंदीगन खड़े है जोड़े हाथ
भंग का रंग जमाए शंकर
विष्णु करे नृत्य देवन साथ
बम बम लहरी बम भोलेनाथ
बम बम लहरी बम भोले नाथ….

महाशिवरात्रि : शिव-पार्वती-प्रसंग

सभी ब्लोग्गर्स को महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनायें.

हर हर महादेव

x

हर हर महादेव

भोले बाबा के नाम

आप सभी को महा शिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनायें।

भोले बाबा के नाम

भंग का रंग जो चढ़ा भोले को तो इधर उधर फ़िर डोले

फ़िर सोचे जरा रंग जमा लें डम डम बजा के डमरू बोलें।….

“बोलो हर-हर, बम-बम..!”

lord-shiva-35s
शिव-आशीषों की सौगात,
लेकर आयी है शिवरात,
बोलो हर-हर, बम-बम..!
बोलो हर-हर, बम-बम..!!…

एक छोटा सा ख़त भोलेनाथ के नाम !

सर्वप्रथम सभी मित्रो और दोनों तरह के शिव भक्तो ( असली और दिखलावटी ) को मेरी तरफ से महाशिवरात्री पर्व की बधाई और ढेरो शुभकामनाये !
आज इस पावन अवसर पर एक छोटा सा ख़त भोलेनाथ के नाम ;
भोलेनाथ;
अब ज्यादा भोले भी मत बनो !
मेरी हर बात को गौर से सुनो!!
अपने पूर्वजो से बहुत सूना था,
कि आपकी तीसरी आँख भी है!
और अपने इस भारत देश पर,
आपकी रहती तांक-झाँक भी है!!
मगर सच बताऊँ तो अपनी तो,…….

Mahashivratri some thoughts.

महाशिवरात्रि , भगवन शिव की आराधना, पूजा और सर्पण की महानिशा-- यह वह अवसर होता है जब भक्तवत्सल भगवान् भोले
भंडारी मात्र बिल्व पत्र समर्पण से प्रसन्न हो अपने प्रिय भक्त को उसका इष्ट ,काम्य तथा वांछित वर देने को तत्पर रहते हैं.
त्रिदल--तीन पत्तों वाले बिल्व पत्र में ऐसा क्या है कि जिसके समर्पण से प्रभु तत्काल प्रसन्न हो जाते हैं?
हमारे संत महात्माओं ने,महर्षि मनीषियों ने, दार्शनिकों और विद्वानों ने इस विषय पर न जाने कितना कुछ कहा है- लिखा है. मैं इन में से कोई नहीं हूँ.इसलिए इस विषय पर लिखने का अधिकारी भी नहीं हूँ…

….
महाशिवरात्रि के पावन पर्व से मेरे ब्लॉग पर एक प्रयोग… ... Donation Paypal Code for Blogs

प्रिय मित्रों और मेरे नियमित पाठकों… कुछ दिनों पूर्व ब्लॉगिंग की दुनिया में मेरे तीन वर्ष पूरे हुए। अब तक आप लोगों का स्नेह, आशीर्वाद और समर्थन मुझे भरपूर मिला है और मैं इसका आभारी हूं। पहला एक वर्ष छोड़ दिया जाये तो गत दो वर्ष से देश में फ़न फ़ैलाये बैठे “नकली सेकुलरिज़्म”, “कांग्रेस की चालबाजियों” और मीडिया के एकतरफ़ा और चाटुकार रवैये के खिलाफ़ मैंने सतत लिखा है। राष्ट्रवादी विचारों (जिसे लोग गलतफ़हमी में हिन्दुत्ववादी विचार समझ लेते हैं) के प्रचार और प्रसार के लिये मैंने अब तक पूर्ण समर्पण ……

महाशिवरात्री की शुभकामनाएं.....

महापावन पर्व महाशिवरात्री की आप सभी को बहुत बहुत शुभकामनाएं....

हे भोले भंडारी! गौरापति

हे भोले भंडारी! गौरापति। गंगाधर। देवाधिदेव। महादेव। यह तो तुम ही हो। अजब-गजब। सामान्य समझ से परे। तीनों काल हिल जाते हैं।….

महा-शिवरात्रि पर्व - विशेष जानकारी

नमस्कार बच्चो ,
आज महा-शिवरात्रि पर्व है और यह पर्व पूरे भारत-वर्ष में बडी ही श्रद्धा और धूम-धाम से मनाया जाता है । लोग मंदिरों में जाकर पूजा अर्चना करते हैं , व्रत रखते हैं और पावन गंगा में स्नान कर पुण्य़ अर्जित करते हैं और आज के पावन दिन भला मैं आपको कैसे भूल सकती हूं , हां आने में थोडी देर अवश्य हो गई ।
सर्व-प्रथम तो आप सबको महा-शिवरात्रि पर्व की हार्दिक बधाई और ढेरों शुभ-कामनाएं । और अब मैं आपको बताऊंगी कि महा-शिवरात्रि पर्व क्यों मनाया जाता है ।
महा-शिवरात्रि नाम से ही ग्यात है कि यह पर्व भग्वान शिव से जुडा है । इस दिन को भग्वान शिव की विवाह गांठ के रूप में मनाया जाता है । इस दिन भग्वान शिव नें पार्वती जी संग विवाह रचा कर फ़िर से अपनी अर्धान्गिनी रूप में स्वीकार किया था ।

……
तो बोलिए जय महाशिव-शक्ति की

महाशिवरात्रि नाम से पुरुष प्रधान समझ की व्याख्या होती है जबकि कही भी उल्लेख नहीं की शिव ने शक्ति के बिना अपना अस्तित्व वताया हो, शिव ने तो बिना शक्ति के रूद्र का रूप लिया फिर हम शिव महादेव को मजबूर कर रहे है कि वह फिर से रूद्र रूप लेकर दुनिया का सर्वनाश करें

हम कब महिलाओ को उनका वह स्थान देंगे जिसकी वो हकदार है, तो अकेले शिव का नाम ना ले क्योकि मेरा मानना है कि खुद महादेव भी नहीं चाहेंगे कि उनका नाम अकेले लिया जाये उनके साथ आदि शक्ति माँ का वर्णन भी किया जाये ऐसा मेरा मत………

ॐ नमः शिवाय ॐ नमः शिवाय ॐ नमः शिवाय

By HINDU TIGERS

अब कुछ अन्य पोस्टों की चर्चा करता हूँ-

my own creation

क्या पुकार पायेंगे तुझे! - कृप्या तस्वीर पर क्लिक करें!

ताऊजी डॉट कॉम

खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी (192) : आयोजक उडनतश्तरी - बहनों और भाईयों, मैं उडनतश्तरी इस फ़र्रुखाबादी खेल में आप सबका आयोजक के बतौर हार्दिक स्वागत करता हूं. जैसा कि आप जानते हैं कि अब खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी क...

पराया देश

चलिये आप को भारत ले चलाता हू , कुछ दिनो के लिये.... जहां बहुत सी बांहे मेरा इंतजार कर रही है - नमस्कार, चलिये आप सभी को भारत ले चले, आज शाम को यानि ३१/१ को मेरे बेटे मुझे चार बजे के करीब मुनिख ऎयर पोर्ट पर छोडने आये, फ़िर सब ने उदास मन से विदाई ली, ...

सियाचिन में ब्लॉगर मिलन का आमंत्रण : ऊँचे लोग ऊँची पसंद

ताऊ रामपुरिया

अभी पिछले सप्ताह ही श्री गोदियाल जी ने एक बडी ही पर उपकारक पोस्ट लिखी वजन घटाना है तो ऊँचे पहाड़ो पर जाइए ! बस तबसे ही हमको ऊंचे पहाडो पर जाने की सूझ गई.
बातों बातों मे गोदियाल जी ने सुझाव दिया कि क्यों ना ब्लागर्स के लिये सियाचिन में एक मिलन समारोह रखवा दिया जाये? हमको भी आईडिया अच्छा लगा. तो हम यह ब्लागर मिलन समारोह हिमालय के उतुंग शिविरों पर करवाने की घोषणा कर रहे हैं. वहां पर निर्माण कार्य यानि अस्थायी ब्लागर गांव का निर्माण प्रारंभ कर दिया गया है.

हिमालय की इन सुरम्य घाटियों मे ब्लागर गांव का निर्माण शुरु कर दिया गया है!

ब्लागर मिलन समारोह, कुछ प्राथमिक बातें


यह शिविर इतनी ऊंचाई पर इस लिये रखा है कि आजकल मोटापे की समस्या बहुत ज्यादा है. और चूंकी ब्लागर्स में इस समस्या की अधिकता देखी जारही है तो ब्लागर भाई बहनों के स्वास्थ्य की रक्षा हेतु यह शिविर आयोजित किया गया है. जिसमे निम्न बातों की तरफ़ आपका ध्यान आकर्षित किया जाता है…….

*होशोहवास/HOSHOHAWAS*

आइये हम सभी वेलेंटाइन डे मुर्दाबाद के नारे लगायें!!! - प्रिय साथियों! वेलेंटाइन डे के नाम पर आज के युवक और युवतियां और स्त्री-पुरुष क्षणिक दैहिक आकर्षण में पड़कर अपना और देश-समाज का जो नुकसान कर रहे हैं वो किसी...

Rhythm of words...

इश्क !(प्रेम दिवस पर विशेष ) - मेरा तेरा इश्क देखकर देखो सूरज जलता है ॥ अपनी ख्वाहिशों के झुरमुट में ही कहीं रोज ये दिन सा पिघलता है ॥ मैं शब्दों की फिरकी बनाकर जब भी तुम पर फेंकता हूँ ते...

DHAROHAR

Heart of The Stones - Pattharon Ke Bhi Hote Hain Dil, Magar Har Kisi Ko Numayan Nahin Karte; Seene Mein Hain Inke Bhi Kai Nagme, Magar Yun hi Sunaya Nahin Karte; Koi Pyaar Se Ta...

आरंभ Aarambha

कब तक ? कब तक होता रहेगा यह प्रयोग .. ? - चलती है बुलडोजर कांपती है जिन्दगी बिखरती है सासें और ... बिरजू की रोटी पिस जाती है धूल मे धूल. नाक में गिर आये एनक को फिर से अपने जगह में स्थापित करने के लिए...

वीर बहुटी

नई सुबह-- कहानी ]- - नई सुबह-- कहानी ]-- *अगली कडी* पिछली कडी मे आपने पढा कि नीतू घर परिवार ्र नैकरी के दो पाटौ मे पिस कर परेशान थी । एक दिन वो दफ्टर से लेट हो जाने पर कि बास की...

भारतीय नागरिक - Indian Citizen

फहीम अंसारी के वकील और दिनेश यादव में फर्क - "आतंकी शहजाद को पकड़वाने वाले स्कूल मैनेजर की हत्या" - जिसमें दो ब्लाग के लिंक मैंने दिये थे और उनके हवाले से इस घटना की जानकारी दी तथा यह लिखा था कि किस प्..

तेताला

खुशदीप सहगल सम्‍मान स्‍वीकारेंगे या पुरस्‍कार : चर्चा में जानिये (विनोद कुमार पांडेय) - सोच रहे थे बहुत दिनों से पेश करें कुछ हम भी, इसी बात को मन में रख कर, चिट्ठा चर्चा ले आए, यही कामना अब है सबसे देखे इस प्रयास को मेरे, तब मानूँगा इसे सा...

स्वप्न मेरे................

ख्वाबों के पेड़ ... - मेरे जिस्म की रेतीली बंजर ज़मीन पर ख्वाब के कुछ पेड़ उग आए हैं बसंत भी दे रहा दस्तक चाहत के फूल मुस्कुराए हैं भटक रहे हैं कुछ लम्हे तेरी ज़मीन की तलाश में ब..

chavanni chap (चवन्नी चैप)

फिल्‍म समीक्षा : माय नेम इज खान - साधारण किरदारों की विशेष कहानी -अजय ब्रह्मात्‍मज करण जौहर ने अपने सुरक्षित और सफल घेरे से बाहर निकलने की कोशिश में माय नेम इज खान जैसी फिल्म के बारे में..

कुछ इधर की, कुछ उधर की

पाकिस्तान भारत से कहीं अधिक खुशहाल देश है.......... - आजकल हमारे यहाँ लुधियाना स्थित पंजाब एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी में 48वीं वार्षिक एल्यूमिनी मीट का आयोजन चल रहा है। जिसमें देश विदेश से आए नामी गिरामी साईंटिस्...

Alag sa

:) हसाईयाँ (: - * बाज़ार पहुंचने पर एक मित्र ने दूसरे से कहा, यार सामान लेना था पर पर्स घर ही भूल आया हूं। अब तुम ही कुछ मदद करो। अरे, वह मित्र ही क्या जो समय पर काम ना आए। ..

नया ठौर

राहुल कथायाम् प्रथमोध्याय: - *राकेश पाठक, न्यूज़ चैनल में एंकर हैं। उन्होंने राहुल गांधी पर जो कुछ लिखा है, आप भी पढ़ें, दिलचस्प है। उनके ब्लॉग- ...इस मोड़ पर- से साभार लिया गया है -*स...

गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष

सत्‍य नारायण भगवान की कथा को अवास्‍तविक लेकिन इस पूजा को प्रामाणिक माना जा सकता है !! - गिरीश बिल्‍लौरे 'मुकुल' जी के द्वारा लिए गए अपने साक्षात्‍कार में मैने बताया था कि ग्रहों के बुरे प्रभाव को दूर करने के लिए अधिक माथापच्‍ची करने की कोई आवश्‍...

Kajal Kumar's Cartoons काजल कुमार के कार्टून
कार्टून :- माय नेम इज़ खान

हिंदी ब्लॉगरों के जनमदिन

आंज स्वप्निल का जनमदिन है - आज, 12 फरवरी को स्वप्निल संसार वालीं स्वप्निल का जनमदिन है। बधाई व शुभकामनाएँ *आने वाले **जनमदिन आदि की जानकारी, अपने ईमेल में प्राप्त करने के लिए यहाँ ...




हास्यफुहार

कभी भी कुछ भी हो सकता है! - *कभी भी कुछ भी हो सकता है!*** विमान में नेताजी ने उड़ान के बाद घंटा भर से चालक दल को परेशान कर रखा था। कभी यह चाहिए तो कभी वह। बात-बात पर बिगड़ जाते। च... आज की चर्चा को देता हूँ विराम!

महाशिवरात्रि की शुभकामनाएँ.....

15 comments:

  1. भोले बाबा पर बहुत पोस्‍ट लिखी गयी हैं आज .. हिंदी ब्‍लॉग जगत के पाठकों को शिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं !!

    ReplyDelete
  2. सभी पाठकों को शिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं !!

    ReplyDelete
  3. जय हो जय, शिव-शंकर की जय!
    यह चर्चा बहुत भली लग रही है!
    बहुत मनभावन लग रही हैं -
    भोले की भोली झाँकियाँ!
    --
    "महाशिवरात्रि पर आपके लिए हार्दिक शुभकामनाएँ!"

    --
    कह रहीं बालियाँ गेहूँ की - "मेरे लिए,
    नवसुर में कोयल गाता है - मीठा-मीठा-मीठा!"
    --
    संपादक : सरस पायस

    ReplyDelete
  4. शास्त्री जी भगवान शिव के रंग में रंग दिया आपने आज की चिट्ठा चर्चा...बेहतरीन चर्चा...बधाई हो..और महाशिवरात्रि की हार्दिक बधाई भी!!

    ReplyDelete
  5. आज तो पूरी भोलेमय चर्चा है. सभी पाठकों को शिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं !

    रामराम.

    ReplyDelete
  6. अरे मुझे तो इस चर्चा से ही पता चला कि इतनी सारी पोस्ट प्रभुमय रहीं...

    ReplyDelete
  7. भोले बाबा की जय हो
    हिन्‍दी ब्‍लॉगर भोले हों।

    ReplyDelete
  8. @पी.सी.गोदियाल जी!
    आपके ब्लॉग "अंधड़" पर टिप्पणी नही हो पा रही है!
    सैटिंग सुधार दें!

    ReplyDelete
  9. सादर अभिवादन! सदा की तरह आज का भी अंक बहुत अच्छा लगा।

    ReplyDelete
  10. आज की चर्चा तो पूरी तरह से बाबा भोलेनाथ को समर्पित रही़...बहुत ही बढिया!!
    आप सबको महाशिवरात्रि पर्व की हार्दिक शुभकामनाऎँ!!!

    ReplyDelete
  11. Main Abhari hu "Charcha Manch" ki aur Sabhi Blogers ki jinhone swadesh se dur hote hue bhi Mahashivratri ka ye din mere liya "Utsav" bana diya .....Dil se Abhar!!

    Jai Bholenath

    ReplyDelete
  12. शिवरात्रि-केन्द्रित सभी महत्वपूर्ण लिंक मिल गए ।
    चर्चा सुन्दर रही । आभार ।

    ReplyDelete
  13. हिमालय की गोद में जल्‍दी ही ब्‍लोगर-मीट का आयोजन कर डालिये। कम्‍प्‍यूटर पर बैठकर वजन बढ़ता जा रहा है। बढिया चर्चा। शिव-पार्वती को हमारा नमन।

    ReplyDelete
  14. waah ............bahut hi badhiya charcha..........har har mahadev.

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

"लाचार हुआ सारा समाज" (चर्चा अंक-2820)

मित्रों! रविवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')   -- ...