समर्थक

Wednesday, January 14, 2015

मकर राशि में आ गये, अब सूरज भगवान।; चर्चा मंच 1858

मकर राशि में आ गये, अब सूरज भगवान।
नदिया में स्नान कर, करना रवि का ध्यान।‍१।
--
उत्तरायणी पर्व को, ले आया नववर्ष।
तन-मन में सबके भरा, कितना नूतन हर्ष।२।...

राजीव कुमार झा





Rewa tibrewal 



ऋता शेखर मधु 



noreply@blogger.com (पुरुषोत्तम पाण्डेय) 



सरिता भाटिया 

सीखिए गीत से, गीत का व्याकरण
हार में है छिपा जीत का आचरण।
सीखिए गीत से, गीत का व्याकरण।।

बात कहने से पहले विचारो जरा
धूल दर्पण की ढंग से उतारो जरा
तन सँवारो जरामन निखारो जरा
आइने में स्वयं को निहारो जरा
दर्प का सब हटा दीजिए आवरण।
सीखिए गीत से, गीत का व्याकरण।



11 comments:

  1. मेरी ओर से आप सब को वर्ष के सबसे पावन दिवस मकर संकरांति की शुभकामनाएं....
    14 दोहों से चर्चा का प्रारंभ पढ़कर अच्छा लगा...

    ReplyDelete
  2. मकर संक्राति की हार्दिक शुभकामनायें ......... सुंदर लिंक्स आज की चर्चा के , एक से बढ़ कर एक ... आभार "मियां मिसिर " को शामिल करने के लिए //

    ReplyDelete
  3. सुन्दर चर्चा।
    चर्चा मंच के सभी पाठकों को मकर संक्रान्ति की हार्दिक शुभकामनाएँ।
    --
    आपका आभार रविकर जी।

    ReplyDelete
  4. सराहनीय पोस्ट
    सक्रांति की शुभकामनाएँ।

    ReplyDelete
  5. चर्चा मंच के सभी पाठकों को मकर सक्रांति की बधाई ...
    अच्छी चर्चा ... शुक्रिया मेरी नज़्म को जगह देने के लिए ...

    ReplyDelete
  6. मकर संक्राति की हार्दिक शुभकामनाएं !
    बहुत सुंदर चर्चा सूत्र.
    'देहात' से मेरे पोस्ट को शामिल करने के लिए आभार.

    ReplyDelete
  7. बहुत सुंदर लिंक्स, आभार |

    ReplyDelete
  8. मकर संक्राति की हार्दिक शुभकामनाएं !

    ReplyDelete
  9. उत्तरायणी की शुभकामनायें

    ReplyDelete
  10. सुन्दर चर्चा प्रस्तुति ...
    मकर संक्राति की हार्दिक शुभकामनाएं !

    ReplyDelete
  11. चुनिन्दा पठनीय लिंक्स से सजी इस चर्चा में मेरी पोस्ट सुख की दुश्मन - ईर्ष्या. को भी शामिल करने हेतु आपको धन्यवाद.
    मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाओं सहित...

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin