Followers

Tuesday, September 30, 2014

आया पुन: नरेंद्र, विश्व को राह दिखाया; चर्चा मंच 1752


सदी रही उन्नीस की, रहा सितम्बर मास । 
प्रवचन दिया नरेंद्र ने, हिन्दु धर्म पर ख़ास। 

हिन्दु धर्म पर ख़ास, बदल जाती वह काया। 
आया पुन: नरेंद्र,  विश्व को राह दिखाया । 

करे राष्ट्र उत्थान, संभाली जबसे गद्दी । 
करता जाय विकास, मिटाता जाय त्रासदी । 

Asha Saxena 


 
yashoda agrawal 


shashi purwar 



SM 





Ravishankar Shrivastava 



shikha kaushik 


kuldeep thakur
jyoti khare


 

Kajal Kumar 



जन्मदिन पर मैं सतत् उपहार दूँगा।
प्यार जितना है हृदय में, प्यार दूँगा।।

साथ में रहते जमाना हो गया है,

“रूप” भी अब तो पुराना हो गया है,

मैं तुम्हें फिर भी नवल उद्गार दूँगा।

प्यार जितना है हृदय में, प्यार दूँगा।।

14 comments:

  1. सुंदर सूत्र सुंदर मंगलवारीय चर्चा । आदरणीय अमर भारती जी को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाऐं ।

    ReplyDelete
  2. अमर भारती जी !
    जन्मदिन पर शुभकामनाऐं--

    ReplyDelete
  3. बहुत बहुत आभार कविवर बढ़िया सूत्र संयोजन !

    ReplyDelete
  4. सुंदर मंगलवारीय चर्चा, बढ़िया सूत्र संयोजन। आदरणीय अमर भारती जी को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाऐं ।

    ReplyDelete
  5. बहुत बढ़िया चर्चा प्रस्तुति ..
    आभार!

    ReplyDelete
  6. सुन्दर चर्चा ,आचार्या अमर भारती जी को उनके जन्मदिन पर शुभकामना ।

    ReplyDelete
  7. सुन्दर चर्चा
    आभार रविकर भाई
    मेरे अस्तित्व को स्वीकारा आपने

    साथ ही आचार्या अमर भारती के लिये

    "आ तेरी उम्र मै लिख दूँ चाँद सितारों से
    तेरा जनम दिन मै मनाऊं फूलों से बहारो से

    हर एक खूबसूरती दुनिया से मै ले आऊं
    सजाऊं यह महफ़िल मै हर हँसी नजारों से

    उम्र मिले तुम्हे हजारों हजारों साल ...
    हरेक साल के दिन हो पचास हजार !!"

    ReplyDelete
  8. बहु स्वादीय चर्चामंच सराहनीय ! मेरी रचना को सम्मिलित करने हेतु धन्यवाद !!

    ReplyDelete
  9. सार्थक चर्चा सजाई है। आभार एवं बधाई।

    ReplyDelete
  10. कई सारे उपयोगी लिंक. बधाई एवं धन्यवाद!

    ReplyDelete
  11. बहुत सुंदर सूत्र संयोजन --- सार्थक चर्चा
    मुझे सम्मलित करने का आभार
    सादर --

    ReplyDelete
  12. बहुत सुन्दर प्रस्तुति।
    श्रीमती अमर भारती जी को जन्म दिन की शुभकामनाएँ।
    आपका आभार आदरणीय रविकर जी।
    चर्चा मंच के पाठकों को
    अष्टमी-नवमी और गाऩ्धी-लालबहादुर जयन्ती की हार्दिक शुभकामनाएँ।
    --
    मान्यवर,
    दिनांक 18-19 अक्टूबर को खटीमा (उत्तराखण्ड) में बाल साहित्य संस्थान द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय बाल साहित्य सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है।
    जिसमें एक सत्र बाल साहित्य लिखने वाले ब्लॉगर्स का रखा गया है।
    हिन्दी में बाल साहित्य का सृजन करने वाले इसमें प्रतिभाग करने के लिए 10 ब्लॉगर्स को आमन्त्रित करने की जिम्मेदारी मुझे सौंपी गयी है।
    कृपया मेरे ई-मेल
    roopchandrashastri@gmail.com
    पर अपने आने की स्वीकृति से अनुग्रहीत करने की कृपा करें।
    डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
    सम्पर्क- 07417619828, 9997996437
    कृपया सहायता करें।
    बाल साहित्य के ब्लॉगरों के नाम-पते मुझे बताने में।

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

"लाचार हुआ सारा समाज" (चर्चा अंक-2820)

मित्रों! रविवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')   -- ...