Followers

Thursday, December 31, 2020

अलविदा 2020 ( चर्चा - 3932 )

 आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है 

भले ही आप भारतीय कलेंडर की बात करें, लेकिन इस सच से इंकार नहीं किया जा सकता कि आज वर्ष 2020 का अंतिम दिन है| वैसे एक विचार यह भी है कि हर दिन नया होता है| यदि हम हर दिन आत्ममंथन कर सकते हैं तो यह धारणा बहुत अच्छी है, लेकिन ज्यादातर लोग ऐसे नहीं होते| इस दृष्टिकोण से नए वर्ष की धारणा इसलिए महत्त्वपूर्ण है कि हम इस दिन विचार कर सकें कि हमने बीते वर्ष क्या खोया, क्या पाया| कितने मित्र गँवाए, कितने मित्र कमाए| कहाँ-कहाँ गलतियाँ की और कहाँ-कहाँ सुधार की गुँजाइश है| इस अवसर पर नए वर्ष के लिए संकल्प भी लिए जा सकते हैं| अत: सिर्फ विरोध के लिए विरोध न कर इसे आत्ममंथन और संकल्प हेतु उपयोग किया जाना चाहिए|आशा के साथ जो नया है वह बीते से बेहतर होगा|

चलते हैं चर्चा की ओर 

ओ तथागत-2020

15 comments:

  1. असीम शुभकामनाओं के संग हार्दिक आभार आपका
    श्रमसाध्य कार्य हेतु साधुवाद

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर भूमिका के साथ सुन्दर लिंक्स प्रस्तुति । मेरी रचना को चर्चा में सम्मिलित करने के लिए आपका बहुत बहुत आभार।

    ReplyDelete
  3. शुभ प्रभात..
    आभार..
    सादर..

    ReplyDelete
  4. नव वर्ष शुभ हो सभी के लिये सपरिवार। मंगलकामनाएं।

    ReplyDelete
  5. दिलबाग सिंह विर्क जी,
    मेरा नवगीत चर्चा मंच में शामिल के लिए हार्दिक धन्यवाद !
    यह मेरे लिए अत्यंत प्रसन्नता का विषय है। आपका आभार 🌹🙏🌹
    - डॉ. शरद सिंह

    ReplyDelete
  6. बहुत सुंदर पठनीय सामग्री की लिंक्स उपलब्ध कराने हेतु साधुवाद 🌹🙏🌹

    ReplyDelete
  7. बहुत अच्छी चर्चा प्रस्तुति

    ReplyDelete
  8. बहुत सुंदर चर्चा, आने वाले साल मंगलमय हो

    ReplyDelete
  9. शानदार भूमिका के साथ रचनाओं का सुंदर संयोजन
    सम्मलित रचनाकारों को बधाई
    मुझे सम्मलित करने का आभार
    सादर

    ReplyDelete
  10. आभार, विर्क सहाब। चर्चा मंच के सभी स्नेही जनों को नूतनबर्ष की मंगलमय कामनाएं🙏

    ReplyDelete
  11. आने वाला समय सभी के लिए मंगलमय हो

    ReplyDelete
  12. साल २०२० के दिनांत में चर्चा मंच अपनी विशेष छवि छोड़ता हुआ, सभी रचनाएँ अपने आप में असाधारण है, मुझे जगह देने हेतु ह्रदय तल से आभार - - नमन सह। सभी गुणीजनों को नूतन वर्ष की असीम शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  13. बहुत सुन्दर चित्रमयी चर्चा प्रस्तुति।
    नव वर्ष आप सबको मंगलमय हो।

    ReplyDelete
  14. सभी को हार्दिक बधाई, खूबसूरत तरीके से पिरोई गई है सभी की रचनाएँ , आपका हार्दिक आभार सभी साथियों को नव वर्ष की असीम शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  15. वाह! लाजवाब भूमिका के साथ सराहनीय प्रस्तुति आदरणीय सर।
    बधाई एवं शुभकामनायें।
    सादर

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।