चर्चा मंच पर सप्ताह में तीन दिन (रविवार,मंगलवार और बृहस्पतिवार)

को ही चर्चा होगी।

रविवार के चर्चाकार डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक,

मंगलवार के चर्चाकार

श्री दिनेश चन्द्र गुप्ता रविकर

और बृहस्पतिवार के चर्चाकार श्री दिलबाग विर्क होंगे।

समर्थक

Tuesday, September 13, 2016

"खूब फूलो और फलो बेटा नितिन!" (चर्चा अंक-2464)

मित्रों 
मंगलवार की चर्चा में आपका स्वागत है। 
देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक।

(डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') 

--
आज मेरे पुत्र का है जन्मदिन,
खूब फूलो और फलो बेटा नितिन!
--
--
बकरे की माँ कब तक, अपनी खैर मना पाएगी।
बेटों के संग-संग, उसकी भी कुर्बानी हो जाएगी।।

बकरों का बलिदान चढ़ाकर, ईद मनाई जाती है।
इन्सानों की करतूतों पर, लाज सभी को आती है... 
--

क्यों खड़े कर दिए मकाँ इतने ... 

दिख रहे ज़ुल्म के निशाँ इतने 
लोग फिर भी हैं बे-जुबां इतने... 
Digamber Naswa 
--
--

जब से कर ने गही लेखनी 

जब से कर ने गही लेखनी 
शीश तान चल पड़ी लेखनी 
बिन लाँघे देहरी-दीवारें 
दुनिया भर से मिली लेखनी... 
मैं ग़ज़ल कहती रहूँगी पर कल्पना रामानी 
--
--

वो तन्हा था क्या करता,
हाल -ए-दिल भी जो न कहता,
तुझे दीवानगी की  उसकी,
कभी पता लगता, ना लगता... 

--

दरमियाँ अपने ये पर्देदारियाँ 

जल रहीं जो याँ दिलों की बस्तियाँ 
कब गिरीं इक साथ इतनी बिजलियाँ... 
चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ 
--
--
--

मैं पथिक 

मैं पथिक किस राह की ढूँढूँ पता 
गली गली मैं विकल 
मुक्तामणि सी फिरूँ यहाँ वहाँ... 
एक प्रयास पर vandana gupta 
--
--
--
--
--
--
--
--

3G मोबाइल मे 4G Jio सिम चलाये 

3G मोबाइल में 4G Jio SIM चलाने का तरीक़ा

6 comments:

  1. बहुत सुन्दर लिंक्स शास्त्री जी आपका हृदय से आभार

    ReplyDelete
  2. बहुत अच्छी चर्चा प्रस्तुति ...आभार!

    ReplyDelete
  3. नितिन को जन्मदिन पर शुभकामनाएं । सुन्दर मंगलवारीय अंक ।

    ReplyDelete
  4. उम्दा लिंक्स संयोजन |
    मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद |

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin