Followers


Search This Blog

Sunday, September 05, 2021

'अध्यापक की बात'(चर्चा अंक- 4178)

सादर अभिवादन। 

आज की प्रस्तुति में आपका स्वागत है। 

आज शिक्षक दिवस है। 

हार्दिक शुभकामनाएँ। 

5 सितंबर 1888 को जन्मे डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन एक महान शिक्षक, विश्वविख्यात दार्शनिक एवं सम्माननीय राजनीतिज्ञ के रूप में जाने जाते हैं। 

भारत के प्रथम उपराष्ट्रपति एवं दूसरे राष्ट्रपति होने का उन्हें गौरव हासिल है। एक सर्व स्वीकार्य आदर्श मानव के रूप में उनका विराट व्यक्तित्त्व हमें हमेशा प्रेरणा देता रहता है।भारतीय जीवन दर्शन के साथ भारतीय मनीषा को विश्व पटल पर प्रदर्शित करते हुए उन्होंने उच्च मानदंड स्थापित किए । 

उन्होंने अपना जन्मदिवस शिक्षकों को सपर्पित किया जिसे आज हम शिक्षक दिवस के रूप में आदर और श्रद्धा से मानते हैं। 

आइए पढ़ते हैं आज की पसंदीदा रचनाएँ

--

दोहे "अध्यापक की बात" 

राधाकृष्णन आपकोनमन हजारों बार।
अध्यापक-दिन का दियाभारत को उपहार।1।
--
धन्य हुए गुरुजन सभीपाकर यह सौगात।
आओ आज के दिन करेंअध्यापक की बात।2।
--
शिक्षक दिवस की बधाई
उन्होंने देवता इंद्र से पूछा कि उन्हें भोजन की जगह सोना क्यों दिया जा रहा है। तब देवता इंद्र ने कर्ण को बतलाया कि उसने अपने जीवित रहते हुए पूरा जीवन सोना दान किया लेकिन अपने पूर्वजों को कभी भी खाना दान नहीं किया। तब कर्ण ने इंद्र से कहा उन्हें यह ज्ञात नहीं था कि उनके पूर्वज कौन थे और इसी वजह से वह कभी उन्हें कुछ दान नहीं कर सका।
जब माँ 
अपनी बेटी से
किलक कर
कहती है कि
अरे !
--
बदली दोनों की मती, बदल गया है वक्त !
शिक्षक व्यापारी बना, बदल गया परिवेश
त्याग तपस्या का नहीं, रंच मात्र भी लेश !
हत्यारे के नाम पर 
हमेशा कफन पड़ा रहता है 
क्योंकि कुछ आत्महत्या 
देह कि नहीं 
आत्मा के होती हैं
इंस्टेंट नूडल्स खाने से आपका पेट और आपका मन दोनों ही भर जाते है। लेकिन क्या आपने कभी इनकी न्यूट्रिशनल वैल्यू जानने की कोशिश की है? ये कौन सी चीजों से कैसे बनते है और आपके शरीर को कितना फायदा या नुकसान पहुंचाते है? आपने अक्सर सुना होगा कि इंस्टेंट नूडल्स हेल्दी नहीं होते, इसलिए इन्हें नहीं खाना चाहिए। लेकिन क्या आप जानते है कि इनका लगातार सेवन अपकी सेहत के लिए कितना नुकसानदायक है? 
-- 
आज का सफ़र यहीं तक 
फिर मिलेंगे 
आगामी अंक में 

8 comments:

  1. उम्दा चर्चा। मेरी रचना को चर्चा मंच में शामिल करने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद अनिता।

    ReplyDelete
  2. शिक्षक दिवस की सभी सुधि पाठकों को बहुत बहुत शुभकामनाएं ! मेरी प्रस्तुति को आपने आज की चर्चा में स्थान दिया आपका हृदय से बहुत बहुत धन्यवाद एवं आभार अनीता जी ! सप्रेम वन्दे सखी ! सभी सूत्र बहुत ही शानदार !

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर और प्रभावी भूमिका के साथ बहुत सून्दर प्रस्तुति अनीता जी ! सभी विद्वजनों को शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ ।

    ReplyDelete
  4. बहुत सुन्दर चर्चा प्रस्तुति!
    सभी पाठकों को शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ!
    आपका आभार अनीता सैनी जी!

    ReplyDelete
  5. शिक्षक दिवस पर डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी को सादर नमन
    और
    हार्दिक शुभकामनाएँ
    श्रमसाध्य प्रस्तुति हेतु साधुवाद

    ReplyDelete
  6. ज्ञानमयी प्रस्तुति के लिए हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएँ । अति सुन्दर सूत्रों का संकलन पठनीय है ।

    ReplyDelete
  7. धन्यवाद आदरणीय

    ReplyDelete
  8. पठनीय और सराहनीय संकलन, आपको तथा सभी रचनाकारों को शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ।

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।