Followers

Thursday, March 26, 2020

चर्चा - 3652

आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है
Books, Bookshelf, Library, Literature
मेरी फ़ोटो
My photo
धन्यवाद
दिलबागसिंह विर्क

8 comments:

  1. सुंदर प्रस्तुति।

    अपने शहर का हाल
    ------
    लॉक डाउन के पहले दिन शहर के कुछ तिराहे और चौराहों पर पुलिस का एक्स्ट्रा खौफ़ देखने को मिला। नये रंगरूटों की ड्यूटी लगी हुई थी। जो शेर-बकरी को एक घाट का पानी पिलाने के दिखावे में जरूरतमंद लोगों तक को अपमानित करने से नहीं हटे। यहाँ तक कि समाचरपत्र विक्रेताओ को वे कोरोना वायरस का मित्र बता कर भगा ही नहीं रहे थे, वरन् अपशब्दों का भी प्रयोग कर डंडा फटकार रहे थें। इसी तरह एक दुग्ध बेचने निकले लोगों की साइकिल पर दो -चार डंडा चलाकर कुछ इसतरह से का व्यवहार उनके साथ करते कि भय से उसका चेहरा पीला पड़ जा रहा था। नई उम्र के पुलिस वालों ने हॉकरों को गाय-गोरु की तरह दौड़ा- दौड़ा कर हांक दिये जाने वाली बात जिलाधिकारी तक पहुँची कि हाँकरों को पुलिस सुबह-सुबह का नाश्ता अपशब्द एवं डंडे से दे रही है तो उन्होंने
    पुलिस को ऐसा न करने का इंस्ट्रक्शन दे दिया गया है ।
    बस अब राम-राम।

    ReplyDelete
  2. सुप्रभात
    उम्दा लिनक्स आज की |पढ़ने के लिए पर्याप्त है |मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद सर |

    ReplyDelete
  3. सुंदर संकलन. मेरी पोस्ट को शामिल करने के लिए आभार.

    ReplyDelete
  4. उपयोगी लिंकों के साथ सुन्दर चर्चा।
    आपका आभार आदरणीय दिलबाग विर्क जी।

    ReplyDelete
  5. बढ़िया सूत्रों की खबर देता अंक, आभार मुझे भी शामिल करने हेतु !

    ReplyDelete
  6. बेहतरीन लिंकों से सजी सुंदर चर्चा अंक ,सादर नमन

    ReplyDelete
  7. सभी रचनाएं बहुत सुंदर।
    सभी रचनाकारों को बधाई।
    मेरी रचना को शामिल करने केलिए हृदय तल से आभार।

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।